Home » इंडिया » Pakistan high commissnor Abdul basit told, jadhav not hanging til final decision of icj
 

पाक उच्चायुक्त: ICJ के अंतिम फ़ैसले तक जाधव को नहीं होगी फांसी

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 May 2017, 11:08 IST
Abdul basit

भारत के अगवा नागरिक कुलभूषण जाधव पर अंतराष्ट्रीय कोर्ट के फैसले को पाकिस्तान ने शुरू में भले ही नकार दिया हो, लेकिन अब वो मजबूरन रास्ते पर आने लगा है. भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने एक बयान में कहा है कि अंतरराष्‍ट्रीय कोर्ट का अंतिम फैसला आने तक कुलभूषण जाधव पाकिस्‍तान में सुरक्षित रहेंगे.

अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में सुनवाई के दौरान भारतीय वकील हरीश साल्‍वे ने यह आशंका जताई थी कि कहीं पाकिस्‍तान अंतरराष्‍ट्रीय कोर्ट की सुनवाई से पहले कुलभूषण जाधव को फांसी के फंदे पर ना लटका दे. पाक उच्‍चायुक्‍त अब्‍दुल बासित ने रविवार को इस बात के संकेत दिए कि कुलभूषण जाधव सुरक्षित हैं.

उन्‍होंने कहा कि पाकिस्‍तान जाधव के मामले में अंतरराष्‍ट्रीय कोर्ट के अंतिम फैसले का इंतजार करेगा. जाधव को पाक में तब तक फांसी नहीं दी जाएगी, जब तक अंतराष्‍ट्रीय कोर्ट का फैसला नहीं आ जाता है.

एक अंग्रेजी अखबार की खबर के मुताबिक, पाक उच्‍चायुक्‍त ने कहा कि पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय कानूनों को लेकर प्रतिबद्ध है. वह यह बात सिर्फ कोर्ट के अस्थाई आदेश के संदर्भ में कह रहे हैं, जिसके मुताबिक जाधव की फांसी पर रोक लगाई गई है, इसका केस के मेरिट पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

बासित ने कहा, "कोर्ट ने कॉन्सुलर एक्सेस को लेकर कुछ ऐसा नहीं कहा है, जिसे अंतिम माना जाए. इन सभी बातों का फैसला कोर्ट के आखिरी आदेश में होगा, लेकिन कोई देश अपनी सुरक्षा से जुड़े मुद्दों से समझौता नहीं करता. ये ध्‍यान रखना चाहिए कि जाधव को जासूसी और आतंकवाद फैलाने का दोषी पाया गया है. वह कोई साधारण नागरिक नहीं है, वह भारतीय नौसेना का अधिकारी है."

गौरतलब है कि पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने कथित तौर पर जासूसी के आरोप में कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा सुनाई है. भारत ने इस फैसले के खिलाफ अंतराष्‍ट्रीय कोर्ट में अपील की है. अंतरराष्‍ट्रीय कोर्ट ने कुलभूषण जाधव की फांसी पर फिलहाल रोक लगा दी है.

First published: 22 May 2017, 11:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी