Home » इंडिया » pakistan offers scholarship for influence kashmiri students said nia
 

साजिश: स्कॉलरशिप के जरिए कश्मीरी छात्रों को लुभा रहा है पाकिस्तान

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 February 2018, 15:09 IST

कश्मीरियों को लुभाने के लिए पाकिस्तान की एक नई चाल का खुलासा हुआ है. राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने खुलासा किया है कि पाकिस्तान कश्मीरी छात्रों को लुभाने के लिए स्कॉलरशिप का सहारा ले रहा है. यह खुलासा राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने टेरर फंडिंग मामले में दाखिल आरोप पत्र में किया है.

एनआईए ने दाखिल आरोप पत्र में खुलासा किया है कि पाकिस्तान की ओर से जम्मू-कश्मीर के छात्रों को स्कॉलरशिप की पेशकश की जा रही है. एनआईए के खुलासे में यह भी बताया जा रहा है कि स्टूडेंट वीजा पर पाकिस्तान गए ज्यादातर युवकों के रिश्तेदार आतंकवादी हैं.

 

एनआईए ने कहा कि, 'जांच के दौरान पता चला कि जो युवक स्टूडेंट वीजा पर पाक गए हैं, वो विद्यार्थी या तो पूर्व आतंकवादियों के रिश्तेदार हैं या सक्रिय आतंकवादियों के रिश्तेदार हैं. एनआईए ने कहा कि इन रिश्तेदारों में से कई लोग आतंकी गतिविधियों में शामिल हैं. एनआईए ने खुलासा किया कि वे वहां हुर्रियत नेता के तौर पर पहचाने जाते हैं.

एनआईए ने यह भी दावा किया कि इन युवाओं के वीजा आवेदन के लिए कई हुर्रियत नेता नई दिल्ली स्थित पाकिस्तानी उच्चायुक्त में सिफारिश भी करते हैं, जिसमें हुर्रियत नेता सैयद अली शाह गिलानी भी शामिल हैं.

 

एनआईए ने 18 जनवरी को अदालत में दाखिल आरोपपत्र में बताया कि कई युवक, जो पाकिस्तान जाते हैं, वे पाकिस्तान और पाकिस्तान के कब्जे वाले हुर्रियत नेताओं के सहयोग से अपने ऐडमिशन संबंधित काम करवाते हैं. पाकिस्तान सरकार की कई परियोजनाओं के अंतर्गत उन्हें वहां एमबीबीएस और इंजिनियरिंग सीटें उपलब्ध करवाई जाती हैं.

गौरतलब है कि एनआईए के आरोपपत्र की प्रति आईएएनएस के पास भी है, जिसमें कहा गया है, 'यह त्रिकोणीय गठजोड़ की ओर इशारा करता है, जहां आतंकवादी, हुर्रियत और पाकिस्तानी प्रतिष्ठान तीन केंद्रों में हैं और ये सभी मिलकर कश्मीर में डॉक्टरों और इंजिनियरों की ऐसी पीढ़ी पैदा कर रहे हैं, जिसका झुकाव पाकिस्तान की तरफ होगा.'

First published: 4 February 2018, 15:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी