Home » इंडिया » Pakistan says, Rising Kashmir Editor Shujaat Bukhari Murder because he tweet UN Report on jammu kashmir
 

कश्मीर में पत्रकार शुजात बुखारी की हत्या पर पाकिस्तान के नापाक बोल

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 June 2018, 18:47 IST
( Jagrati Shukla twitter)

पाकिस्तान भारत के खिलाफ अपनी नापाक हरकत करने से कभी बाज नहीं आएगा. अब उसने जम्मू कश्मीर में राइजिंग कश्मीर के संपादक शुजात बुखारी की हत्या को लेकर अपनी गंदी राजनीति शुरू कर दी है. पाकिस्तान ने शुजात बुखारी की हत्या के पीछे संयुक्त राष्ट्र की जम्मू कश्मीर पर रिपोर्ट को ट्वीट करना बताया है.

पाकिस्तान ने कहा है कि यूएन की रिपोर्ट पर ट्वीट करने के कुछ घंटों के बाद ही शुजात बुखारी की हत्या कई सवाल खड़े करती है. पाकिस्तान की इस हरकत को लेकर जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने पाकिस्तान को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि पाकिस्तान कश्मीर के बिगड़ते हालातों पर राजनीति करने से बाज नहीं आ सकता.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, शुजात बुखारी की हत्या की खबर से पूरी दुनिया में सनसनी फैल गई. पाकिस्तान ने पहले इस घटना की कड़ी निंदा. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ मोहम्मद फैजल ने ट्ववीट किया, “ऐसी क्रूरता के पक्ष में कोई तर्क नहीं हो सकता है, इसकी जितनी निंदा की जाए, कम होगा. हमारी संवेदनाएं और दुआएं उनके परिवार के साथ हैं. ऊपर वाला इस दुख की घड़ी में उनको शक्ति प्रदान करे.

ये भी पढ़ें- राइजिंग कश्मीर के एडिटर सुजात बुखारी की हत्या में लश्कर का हाथ, पुलिस ने जारी किए सीसीटीवी फुटेज!

इसके बाद डॉ मोहम्मद फैजल ने एक और ट्वीट किया. जिसमें शुजात बुखारी की हत्या को लेकर एक नया सिगूफा छोड़ दिया. उन्होंने लिखा, जम्मू कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट पर ट्वीट के कुछ ही घंटे बाद कश्मीरी पत्रकार शुजात बुखारी की हत्या - बड़ा भयानक संयोग है, यह गंभीर सवाल उठाता है. भारत को इसकी जांच करनी चाहिए और तय करना चाहिए इस अपराध को अंजाम देने वाले कानून के शिकंजे में आएं.”

फैजल के इस ट्वीट को लेकर पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने पाक विदेश मंत्रालय को कड़ी फटकार लगाई. उन्होंने ट्वीट कर लिखा, पाकिस्तान कश्मीर के बिगड़ते हालातों को लेकर अपनी राजनीति करने से बाज नहीं आ सकता है. पाकिस्तान की थ्योरी है कि शुजात बुखारी हत्या इसलिए हुई कि उन्होंने यूएन की रिपोर्ट को ट्वीट किया. शर्म आनी चाहिए.

बता दें कि संयुक्त राष्ट्र ने जम्मू कश्मीर के हालातों को लेकर एक रिपोर्ट जारी की है. इसमें जम्मू कश्मीर में मानवाधिकारों के उल्लंघन की बात कही गई है. भारत ने यूएन की इस रिपोर्ट को खारिज करते हुए पूर्वाग्रह से ग्रसित बताया है. 

First published: 15 June 2018, 18:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी