Home » इंडिया » Pakistani Haseena Kajal honeytrap DRDO scientist leak information to ISI
 

पाकिस्तानी हसीना 'काजल' के जाल में फंसकर DRDO वैज्ञानिकों ने ISI को लीक की जानकारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 October 2018, 19:23 IST

Honeytrap in DRDO: नागपुर स्थित DRDO की ब्रह्मोस यूनिट में पाकिस्तान को जानकारी लीक करने वाले मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. पता चला है कि फेसबुक में काजल नाम से एक्टिव आईएसआई की महिला एजेंट ने इनके जरिए देश की रक्षा संस्थानों में सेंध लगाई है.

मंगलवार को डीआरडीओ के कानपुर स्थित डिफेंस मटेरियल एंड स्टोर रिसर्च सेंटर में काम करने वाले दो वैज्ञानिकों पकड़े गए हैं, जिनसे पूछताछ की गई. इस पूछताछ में खुलासा हुआ कि काजल नाम से फेसबुक पर एक्टिव आईएसआई की महिला एजेंट ने ऐसे ही कई लोगों को हनीट्रैप में फंसाया है और देश की रक्षा संस्थानों में सेंध लगाई है.

इससे पहले सोमवार को नागपुर स्थित डीआरडीओ की ब्रह्मोस यूनिट से निशांत अग्रवाल नामक मैकेनिकल इंजीनियर गिरफ्तार किया गया था. निशांत को पाकिस्तान को सुरक्षा से जुड़ी खुफिया जानकारी लीक करने के आरोप में यूपी एटीएस और मिलिट्री इटेलिजेंस ने गिरफ्तार किया था.

पढ़ें- DRDO इंजीनियर की गिरफ्तारी के बाद ATS का खुलासा! रक्षा सीक्रेट ISI तक पहुंचाती है ये 'लड़की'

यूपी एटीएस के आईजी असीम अरुण ने कहा कि डीआरडीओ में कार्यरत निशांत अग्रवाल के कंप्यूटर से काफी संवेदनशील जानकारियां हाथ लगी हैं. उसके पाकिस्तान स्थित आईडी पर फेसबुक के जरिए चैटिंग के भी सबूत मिले हैं.

 

यूपी एटीएस ने खुलासा किया है कि काजल नाम की एक महिला के नाम से चल रहे फेसबुक अकाउंट के जरिए भारत के रक्षा संसाधनों में सेंध लगाने का काम किया जा रहा था. काजल आईएसआई की एजेंट बताई जा रही है. काजल फेसबुक के जरिए भारतीय अधिकारियों को हनीट्रैप का शिकार बनाकर अहम जानकारी ले रही थी.

पढ़ें- Video: MJ अकबर पर लगे यौन शोषण के आरोपों पर सुषमा स्वराज ने दिया हैरानी भरा रिएक्शन

ये महिला अगल-अलग नाम से 15-20 फेसबुक प्रोफाइल बनाकर चला रही थी. खुफिया एजेंसियों ने आईएसआई के एक हजार से ज्यादा फेसबुक अकाउंट का पता लगाया है. बताया जा रहा है कि काजल के जरिए देश के सैन्य और रक्षा संस्थानों से जुड़े लोगों को फंसाया जाता है. उनको हनीट्रैप का शिकार बनाया जाता है और रक्षा से जुड़ी जानकारी निकलवाती है. 

First published: 9 October 2018, 19:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी