Home » इंडिया » pakistani officers accept, it is true indian army done surgical strike in pak area
 

पाकिस्तानी अधिकारी ने माना, भारतीय सेना ने एलओसी को पार करके किया था सर्जिकल स्ट्राइक

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 October 2016, 10:32 IST
(कैच)

अंतरराष्ट्रीय मंच पर लगातार किसी भी सर्जिकल स्ट्राइक की बात को झुठला रहे पाकिस्तान के दावे को पीओके में तैनात एक पुलिस अधिकारी ने सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया है. पाकिस्तान पुलिस के एक अधिकारी गुलाम अकबर जो कि पीओके में एसएसपी के पद पर तैनात हैं, ने इस बात को स्वीकार किया है कि भारतीय सेना ने एलओसी के पार पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में आतंकवादियों के लॉन्च पैड पर सर्जिकल स्ट्राइक किया था.

इसके अलावा उसने यह भी माना है कि इस कार्रवाई में कई आतंकवादियों के साथ पांच पाकिस्तानी सैनिक भी मारे गए थे. इस बात की जानकारी समाचार चैनल सीएनएन न्यूज 18 ने बुधवार को पाकिस्तान के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के हवाले से दी है.

भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक के लगभग एक हफ्ते बाद समाचार चैनल ने इस बात का दावा किया है कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने चैनल के इनवेस्टिगेशन एडिटर मनोज गुप्ता से टेलीफोन पर भारतीय सेना के एक-एक दावे की तस्दीक की. चैनल के मनोज गुप्ता ने उस पाकिस्तानी अधिकारी के उच्चाधिकारी बन कर सारी जानकारी उगलवाई.

समाचार चैनल के मुताबिक मीरपुर रेंज के पुलिस अधीक्षक (विशेष शाखा) गुलाम अकबर को रिकॉर्डिग में यह कहते हुए साफ सुना जा सकता है कि 29 सितंबर की रात कई सेक्टरों में भारतीय सेना के द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक हुई थी.

गुप्ता के साथ टेलीफोन पर बातचीत के दौरान, उसने कहा कि पाक अधिकारियों को भारतीय सेना के इस हमले की भनक तक नहीं लग पाई और पांच सैनिक मारे गए, जिसके बाद पाकिस्तानी सेना ने कई आतंकवादियों के शवों को वहां से तुरंत हटाया. चैनल ने कहा है कि उसके पास मारे गए सैनिकों के नाम भी हैं.

सीएनएन न्यूज18 के मनोज गुप्ता ने पुलिस महानिरीक्षक मुश्ताक बनकर अकबर को फोन किया और उस रात हुई जान-माल के मुकसान की जानकारी मांगी. इसके बाद अकबर ने उस रात जिन-जिन इलाकों में हमले हुए, उसकी पूरी कहानी बयान कर डाली.

उसने कहा कि उस रात भीमबेर के समाना, पुंछ के हाजिरा, नीलम के दूधनियाल तथा हथियान बाला के कायानी में हमले हुए. उसने कहा कि भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक के तुरंत बाद ही पाक सेना ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी थी.

पाकिस्तानी पुलिस अधीक्षक ने कहा कि पाकिस्तानी सेना शवों को एंबुलेंस में डालकर ले गई. उसने कहा कि कई को गांव में ही दफन कर दिया गया.

अकबर ने सर्जिकल स्ट्राइक के समय तक की पुष्टि करते हुए कहा, "सर, वह रात का समय था. रात दो बजे से सुबह चार या पांच बजे तक तकरीबन 3-4 घंटे तक हमला होता रहा." उसने कहा, "अलग-अलग जगहों पर हमले हुए. उन्हें प्रतिरोध का भी सामना करना पड़ा."

समाचार चैनल ने दावा किया कि अकबर ने डायरेक्टर जनरल मिलिट्री ऑपरेशन (डीजीएमओ) लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह के आधिकारिक बयान की पुष्टि भी की है.

गौरतलब है कि रणबीर सिंह ने 29 सितंबर को हुए संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि भारत ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में आतंकवादियों के लॉन्च पैड पर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया है, जिसमें आतंकवादियों को भारी नुकसान हुआ है.

भारत सरकार ने आधिकारिक तौर पर इस बात की घोषणा नहीं की है कि सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान कितने आतंकवादी मारे गए थे.

सरकार और सेना ने बस इतना ही कहा है कि कई आतंकवादियों को मार गिराया गया. हालांकि भारत के दावे के इतर इस्लामाबाद ने भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक के दावे को खारिज करते हुए कहा कि उस रात सीमा पर भारत की तरफ से गोलीबारी में दो पाकिस्तानी सैनिकों की मौत हुई.

First published: 6 October 2016, 10:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी