Home » इंडिया » ‘Pandit Rahul Gandhi’ poster appear outside Congress headquarters in Delhi, prime minister of 2019
 

कांग्रेस मुख्यालय के बाहर लगे पंडित राहुल गांधी के पोस्टर

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 December 2017, 16:14 IST

कांग्रेस अध्यक्ष पद पर राहुल गांधी की ताजपोशी अब औपचारिकता मात्र रह गई है. ऐसे में राहुल गांधी की नई भूमिका को लेकर उनके समर्थक काफी उत्साहित हैं. कांग्रेस मुख्यालय के बाहर लगे पोस्टरों को देखकर ये समझा सकता है. मंगलवार को दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय के बाहर उनके दिलचस्प पोस्टर देखने को मिले. 

इन पोस्टरों में राहुल के नाम के आगे 'पंडित राहुल गांधी' लिखा है. जो चौंकाने वाला है. उनके ये पोस्टर हरियाणा के कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने लगाए हैं. इन पोस्टरों में राहुल गांधी को 2019 का प्रधानमंत्री बताया गया.

दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय के बाहर लगे पोस्टरों में लिखा है कि '2017 में कांग्रेस अध्यक्ष और 2019 में भारत के प्रधानमंत्री'. हरियाणा कांग्रेस कमेटी द्वारा तैयार इन पोस्टरों में लिखा गया है, 'पंडित राहुल गांधी जी को सभी भगवानों ने दिया आशीर्वाद.'

गौरतलब है कि राहुल गांधी के गुजरात स्थित सोमनाथ मंदिर में जाने के बाद उनके धर्म को लेकर विवाद हो गया था. दरअसल हाल में उनके सोमनाथ दौरे के बाद एक तस्वीर सामने आई थी, जिसमें दावा किया गया था कि मंदिर दौरे के समयराहुल के गैर-हिंदू रजिस्टर में दस्तखत थे. इसके बाद भाजपा ने उन पर निशाना साधा था.

इस विवाद के बढ़ने के बाद कांग्रेस ने सफाई दी थी कि राहुल न सिर्फ हिंदू हैं, बल्कि वो जनेऊधारी हिंदू हैं. उनकी जनेऊ पहनी तस्वीरें भी कांग्रेस ने जारी की थीं. इसके बाद राहुल गांधी ने कहा था कि उनका परिवार लंबे समय से शिवभक्त है. वे सच्चाई में विश्वार करते हैं, भाजपा को जो सोचना है सोचे.

गौरतलब है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को पार्टी हेडक्वॉर्टर में पार्टी अध्यक्ष पद के लिए नामांकन भर दिया है. सोमवार को नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख थी. राहुल गांधी के नामांकन दाखिल करते समय उनके साथ कई सीनियर नेता मौजूद रहे. यूपीए के कार्यकाल के दौरान प्रधानमंत्री रहे मनमोहन सिंह, दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित, मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रमुख नेता और राहुल के करीबी ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत कई सीनियर कांग्रेसी नेता इस मौके पर राहुल के साथ थे.

5 दिसंबर को नामांकन पत्रों की जांच होगी. 11 दिसंबर को नाम वापस लेने की आखिरी तारीख है और उसी दिन राहुल के नाम का औपचारिक एलान कर दिया जाएगा. राहुल गांधी के खिलाफ अंतिम तारीख तक किसी और ने नामाकंन नहीं भरा है. एसे में उनकी ताजपोशी की बस महज औपचारिकता बची है. जो जल्द पूरी की जा सकती है.

First published: 5 December 2017, 16:14 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी