Home » इंडिया » Paperless Aadhaar eKYC can make new mobile connection cost zero
 

नए मोबाइल कनेक्शन की कीमत शून्य कर सकता है आधार ईकेवाईसी

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 April 2016, 22:57 IST

ट्राई के चेयरमैन आरएस शर्मा ने शुक्रवार को कहा कि अगर आधार को इलेक्ट्रॉनिक केवाईसी के रूप में इस्तेमाल किया जाए तो पहचान प्रक्रिया के डिजिटल होने से नए मोबाइल कनेक्शन के एक्टिवेशन की कीमत शून्य होना संभव है.

उन्होंने कहा कि अगर आधार को ऑथेंटिकेशन टूल के रूप में इस्तेमाल किया जाए तो ट्रांजैक्शन कीमत काफी हद तक कम हो जाएगी. 

mobile-Security-2-1441011497.jpg

नई दिल्ली में आयोजित एक सम्मेलन में उन्होंने कहा, "अगर आप एक मोबाइल कनेक्शन ले रहे हैं तो फिलहाल आपको एक कस्टमर एक्वीजिशन फॉर्म भरना पड़ता है, दस्तावेज देने पड़ते हैं. और इन सबसे चलते एक ग्राहक के मोबाइल कनेक्शन को शुरू करने की कीमत 150 रुपये पड़ती है. लेकिन अगर आप डिजिटल पहचान सत्यापन कर रहे हैं तो आप एक कस्टमर फॉर्म भरेंगे, इसे डिजिटल साइन करें और अपना ईकेवाईसी ले लें. इस तरह से यह कीमत शून्य हो जाएगी."

पढ़ेंः क्या होगा अगर उड़ते विमान में मोबाइल फोन को फ्लाइट मोड पर नहीं रखा?

शर्मा ने इसकी सिफारिश डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकॉम (डॉट) से भी की थी. जाहिर है कि डॉट ने इसे स्वीकार भी कर लिया. सरकार द्वारा इन मानकों की स्वीकृति के बाद नए मोबाइल कनेक्शन के लिए आधार कार्ड के बायोमैट्रिक डाटा से तुरंत पहचान सत्यापन होना शुरू हो जाएगा.

शर्मा के मुताबिक जब ऑपरेटरों द्वारा आधार कार्ड के जरिये नए कनेक्शन जारी करने शुरू कर दिए जाएंगे तो सत्यापन प्रक्रिया काफी तेज हो जाएगी और सबकुछ ऑनलाइन हो जाएगा. 

पढ़ेंः लाइसेंस-आरसी चोरी होने का डर खत्म, स्मार्टफोन से ही होगा काम

हालांकि उन्होंने तकनीकी विकास और इसके क्रियान्वयन के बीच भारी अंतर की भी तरफ ईशारा किया. यूआईडीएआई के महानिदेशक और डिपार्टमेंट ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड आईटी के सचिव के रूप में शर्मा ने डॉट को इस पूरी प्रक्रिया को पेपरलेस करने की सिफारिश की थी.

First published: 9 April 2016, 22:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी