Home » इंडिया » Paresh rawal on rahul gandhi over no confidence motion, agar bina fumble ke rahul bole to dharti hilegi nhin nachengi
 

राहुल पर परेश रावल की चुटकी- बिना अटके 15 मिनट बोले तो हिलेगी नहीं नाचेगी धरती

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 July 2018, 12:56 IST

गौरतलब है कि राहुल गांधी के लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर बोलने को लेकर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी तंज किया था, की भूकंप के लिए तैयार रहे. अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज लोकसभा में अपनी पार्टी का पक्ष रखेंगे. राहुल गांधी को बोलने के लिए 15 मिनट कला समय दिया जाएगा.

गौरतलब है कि लोकसभा में आज मोदी सरकार की अग्निपरीक्षा है. लोकसभा में आज मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा होगी. लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने 18 जुलाई को तेलुगू देशम पार्टी के अविश्वास प्रस्ताव को मंजूर कर लिया है. ऐसे में सुबह 11 बजे जैसे ही लोकसभा की कार्यवाही शुरू होगी इस पर जोरदार बहस की उम्मीद है.

ये भी पढ़ें- अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा LIVE: ये जंग लोकतंत्र और तानाशाह के बीच है- TDP

 

अविश्वास प्रस्ताव तो मोदी सरकार के खिलाफ है लेकिन चर्चा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के एक बयान की हो रही है. बीजेपी सांसद और केंद्रीय राज्यमंत्री गिरिराज सिंह ने उनके एक बयान पर ट्वीट कर चुटकी ली है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, "भूकंप के मजे लेने के लिए तैयार हो जाइए."

बता दें कि राहुल गांधी ने 2016 में मीडिया से बातचीत करते हुए कहा था कि आप देख सकते हैं कि पीएम नरेंद्र मोदी महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा के दौरान सदन में मौजूद नहीं होते हैं. यही वजह है कि विपक्ष और सरकार महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा नहीं कर पाती. राहुल ने उसी बयान में कहा था कि सरकार उन्हें बोलने कौ मौका नहीं देती.

ये भी पढ़ें- अविश्वास प्रस्ताव के बारे में आपको ये बातें पता होनी चाहिए !

राहुल ने कहा था कि मोदी पार्लियामेंट में खड़े होने से डरते हैं. अगर मुझे संसद में सिर्फ 15 मिनट भाषण देने का मौका मिल जाए तो प्रधानमंत्री सामने खड़े नहीं हो पाएंगे. राहुल ने कहा था कि अगर वह संसद में 15 मिनट बोल देंगे तो भूकंप आ जाएगा.

हालांकि राहुल गांधी के 15 मिनट मांगने पर पीएम मोदी ने पलटवार किया था. प्रधानमंत्री ने कर्नाटक के चुनाव प्रचार के दौरान कहा था, "कांग्रेस अध्यक्ष ने मुझे चुनौती दी है कि अगर वह 15 मिनट संसद में बोलेंगे तो मैं वहां बैठ नहीं पाऊंगा, लेकिन वह अगर 15 मिनट बोलेंगे यह भी बड़ी बात है और मैं बैठ नहीं पाऊंगा तो मुझे याद आता है कि क्या सीन है."

ये भी पढ़ें- नेहरू के खिलाफ आया था पहला अविश्वास प्रस्ताव, 15 साल बाद आज फिर होगा पेश

First published: 20 July 2018, 12:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी