Home » इंडिया » Pathankot Airbase Terror Attack: US Dossier Bares Pakistan's Role
 

पठानकोट एयरबेस हमलाः हमले में शामिल था जैश ए मोहम्मद, अमरीका ने एनआईए को सौंपा 1000 पन्नों का डोजियर

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 July 2016, 12:27 IST
(पत्रिका)

पठानकोट एयरबेस हमले के मामले में भारत को अमेरिका से पाकिस्तान के खिलाफ एक अहम सबूत मिला है. अमेरिका ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को 1000 पन्नों का डोजियर सौंपा है.

इस डोजियर से साफ होता है कि जैश-ए-मोहम्मद का हैंडलर कासिफ जान पठानकोट हमले के लिए जिम्मेदार दहशतगर्दों के संपर्क में था.

वहीं, पठानकोट एयरबेस हमले में पाकिस्तानियों के शामिल होने को लेकर दी जा रही भारत की दलीलों को इससे काफी मजबूती मिलने की उम्मीद है.

अमेरिका द्वारा एनआईए को सौंपे गए इस डोजियर में जैश-ए-मोहम्मद के सरगना कासिफ जान और चार फिदायीनों के बीच हुई बातचीत का ब्योरा है.

एक अंग्रेजी अखबार में छपी खबर के अनुसार अमरीका द्वारा सौंपे गए कागजातों में जैश- ए-मोहम्मद के आकाओं के बीच एक तय समय में हुई बातचीत भी दर्ज है. फिलहाल, एनआईए इन कागजातों की जांच कर रही है.

डोजियर में यह भी है कि कासिम जान व्हॉट्सऐप पर चैट करने के अलावा एक फेसबुक अकाउंट भी इस्तेमाल कर रहा था. यह फेसबुक अकाउंट उसी नंबर से जुड़ा हुआ था जिस नंबर से हमलावरों ने एसपी सलविंदर सिंह का अपहरण करते समय पठानकोट से फोन किया था.

अखबार के मुताबिक हमले के पूरे समय तक जैश के चारों फिदायीन नासिर हुसैन, अबू बकर, उमर फारूख और अब्दुल कयूम 80 घंटे तक पाकिस्तान में बैठे अपने आकाओं से लगातार संपर्क में थे. एनआईए ने अमेरिका से चैट्स और अकाउंट्स का पूरा ब्योरा मांगा था.

एनआईए के एक अधिकारी ने बताया कि इन कागजातों के मिलने से भारत का पक्ष और मजबूत होगा. इससे संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी में मसूद अजहर को आतंकी घोषित किए जाने के लिए भारत की अर्जी को भी मदद मिलेगी. इस अधिकारी ने बताया कि यह बातचीत कुछ वैसी ही है जैसी 2008 में मुम्बई हमले से पहले लश्कर के आतंकियों के बीच हुई थी.

गौरतलब है कि जनवरी में पठानकोट एयरबेस पर हुए हमले में 7 जवान शहीद हुए थे. हमले का मास्टरमाइंड मसूद अजहर था जो जैश-ए-मोहम्मद का सरगना है. उसे 1999 के कंधार प्लेन हाईजैक केस में पैसेंजरों की रिहाई के बदले भारत ने छोड़ा था.

First published: 30 July 2016, 12:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी