Home » इंडिया » पायल ने उमर अब्दुल्ला से मांगा 15 लाख रुपये महीने गुजारा भत्ता
 

पायल ने उमर अब्दुल्ला से मांगा 15 लाख रुपये महीने गुजारा भत्ता

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:46 IST
(एजेंसी)

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला से उनकी अलग रह रहीं पत्नी पायल अब्दुल्ला ने 15 लाख रुपये महीने के गुजारे भत्ते की मांग की है. इस मामले में पायल ने दिल्ली के कोर्ट में एक याचिका दायर की है कि सरकारी आवास खाली कराए जाने के बाद से वह और उनके बच्चे 'बेघर' हैं और उनके पास पैसे नहीं हैं.

पायल ने याचिका दिल्ली हाईकोर्ट के उस फैसले के एक महीने बाद दायर की है, जब हाईकोर्ट के आदेश के बाद उन्हें अकबर रोड पर जम्मू सरकार का बंगला खाली करना पड़ा था.

पायल ने अपनी याचिका में कहा है कि उनके पति उमर अब्दुल्ला के द्वारा उन्हें और उनके दो लड़कों को गुजारे के लिए 10 लाख और नए घर के लिए 5 लाख रुपये दिए जाएं.

इसके साथ पायल ने सरकारी आवास खाली कराए जाने के बाद खुद की और बच्चों की सुरक्षा के लिए जेड और जेड प्लस सिक्योरिटी हटाए जाने पर भी चिंता जताई है.

उनकी ओर से याचिका में कहा गया है वो और उनके बच्चे आज के हालात में खानाबदोश जिंदगी जीने को मजबूर हैं. आज के समय में वे दोस्तों और बूढ़े माता-पिता के रहम पर हैं.

पायल के वकील जयंत के सूद ने कहा, "फैमिली कोर्ट के जज अरुण कुमार आर्य ने उमर को नोटिस जारी कर उनका जवाब मांगा है. जज ने मामले की सुनवाई के लिए  27 अक्टूबर की तारीख तय की है."

पायल ने दावा किया है नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता उमर अब्दुल्ला की वजह से उन्हें और उनके दोनों बेटों को दुख और उत्पीड़न का सामना करना पड़ा है.

पायल ने कोर्ट से अनुरोध किया है उमर को मुआवजा देने का निर्देश दिया जाए. उन्होंने उमर द्वारा दायर की गई तलाक याचिका का उल्लेख करते हुए इसे अनुचित और भावनात्मक रूप से पीड़ा देने वाले बताया.

गौरतलब है कि 30 अगस्त को निचली अदालत ने उमर की तलाक याचिका को आधारहीन बताते हुए खारिज कर दिया था.

पायल ने कहा है कि, "शादी को बनाए रखने के लिए उन्होंने हमेशा अपनी तरफ से कोशिश की है. वह अलग होने के हित में कभी नहीं थीं. उमर मुझे और बच्चों को साल 2013 से नजरअंदाज कर रहे हैं."

First published: 12 September 2016, 12:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी