Home » इंडिया » Paytm start payments bank soon
 

Paytm जल्द शुरू करेगी पेमेंट्स बैंक, मिलेगी सेविंग, करंट अकाउंट, RD और FD की सेवा

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 December 2016, 12:23 IST
(एजेंसी)

ई-कामर्स की बड़ी कंपनी पेटीएम बहुत जल्द पूरे देश में पेमेंट्स बैंक की शुरुआत करने जा रहा है. बताया जा रहा है कि पेटीएम की देश भर में 165 बैंक शाखाएं खोलेगा.

पेमेंट्स बैंक में सेविंग, करंट एकाउंट, आरडी और एफडी भी होगी. पेटीएम के 15 करोड़ ग्राहकों में से दो करोड़ ग्राहक पेमेंट्स बैंक की सेवाओं के लिए आवेदन कर चुके हैं.

इस बारे में जानकारी देते हुए पेटीएम के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यह बैंक किसी को सीधे लोन की रकम नहीं देगा, बल्कि उसकी जरूरत का सामान खरीद कर देगा. जिससे लोन के नाम पर रकम लेकर उसका दुरुपयोग नहीं होगा और ग्राहक के साथ बैंक की देयता बहुत कम होगी. इसलिए इसका नाम पेंमेट्स बैंक रखा गया है.

इस सुविधा के तहत आम ग्राहक केवाईसी देकर खाता खोलने के बाद इस बैंक में एक लाख का लेनदेन कर सकेगा और जिसके पास टिन नंबर है वह दस लाख रुपये का लेनदेन कर पाएगा. हालांकि इस लिमिट को एक से 10 लाख और 10 लाख से एक करोड़ तक कराने का प्रयास जारी है. इस मामले में जल्द ही रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया फैसला लेगा.

बताया जा रहा है कि अभी आरबीआई इसके स्ट्रक्चर, कर्मियों की उपलब्धता की मानीटरिंग कर रहा है. इसके पूरा होते ही नई लिमिट लागू हो जाएगी जिससे ग्राहकों को बड़ी रकम का लेनदेन करने सुविधा मिल जाएगी.

कंपनी की ओर से बताया जा रहा है कि अगर किसी ग्राहक ने 1 लाख रुपये जमा किए हैं तो वह 25 हजार रुपये कैश कभी भी निकाल सकेगा.

इस पेमेंट्स बैंक की सीईओ संजनी कुमार हैं, जो 16 वर्ष तक आरबीआई मुंबई में डीजीएम रहने के बाद अमेरिका टैक्सास के बैंक में 5 साल तक उच्च पद पर काम कर चुकी हैं.

वहीं कंपनी के चीनी निवेश के मुद्दे और ग्राहकों का डाटा चीन जाने की बात का खंडन करते हुए कंपनी के वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि ऐसा कुछ नहीं है.

कंपनी का पूरा डाटा इंडिया में ही रहता है. कंपनी का रिसर्च आफिस कनाडा के टोरंटो में है. पेटीएम में अलीबाबा ने 40 फीसदी के शेयर खरीदे हैं लेकिन उनका पेमेंट्स बैंक से कोई लेनादेना नहीं है क्योंकि पेंमेट्स बैंक पेटीएम से अलग है.

बैंक का लाइसेंस सीधे उसके चेयरमैन विजयशेखर शर्मा के नाम से व्यक्तिगत लाइसेंस है, वह पेटीएम के संस्थापक भी हैं.

अधिकारियों के मुताबिक अब पेटीएम को तीन हिस्सों को बांटे जाएगा. इसमें पहला हिस्सा मोबाइल वॉलेट, मोबाइल से रेवेन्यू कलेक्शन, दूसरा हिस्सा ऑनलाइन शॉपिंग और तीसरा हिस्सा पेंमेंट्स बैंक का होगा.

गौरतलब है कि इस समय पेटीएम ई-कामर्स के काम करती है, जिसमें मोबाइल वॉलेट, बिजली बिल और रेवेन्यू कलेक्शन का काम प्रमुख है.

वर्ष 2010 में स्थापित पेटीएम का कुल टर्नओवर वर्तमान में 20 हजार करोड़ रुपये और देश भर में इसके ग्राहकों की संख्या लगभग 15 करोड़ है.

First published: 2 December 2016, 12:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी