Home » इंडिया » Peak demand for labor special trains will end, when demand from states will be run: Railways
 

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की पीक डिमांड खत्म, राज्यों की मांग के अनुसार चलाई जाएंगी : रेलवे

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 June 2020, 9:25 IST

Indian Railways : रेलवे बोर्ड के सदस्य (यातायात) पी.एस. मिश्रा ने सोमवार को जानकारी दी है कि श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की पीक डिमांड की अवधि अब पूरी हो चुकी है और वर्तमान में रेलवे के पास विभिन्न राज्यों से ऐसी 15 ट्रेनों की डिमांड आयी है. उन्होंने कहा कि रेलवे सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को इस तरह की ट्रेनों की मांग का आकलन करने के लिए पत्र भेजने की प्रक्रिया में है और ये ट्रेनें तब चलाई जाएंगी जब तक कि राज्यों से मांग होगी.

उन्होंने कहा “हमें आज के लिए 15 और ट्रेनों की डिमांड मिली है. जब श्रमिक स्पेशल शुरू की गई थी, तो हमने एक दिन में 269 ट्रेनें चलाई. वह अधिक डिमांड अब समाप्त हो चुकी है. हमने रविवार को तीन ट्रेनें चलाईं. आज हम छह-सात ऐसी ट्रेनें चला सकते हैं''.


उन्होंने कहा रेलवे ने अब तक 4436 श्रमिक ट्रेनें चलाई हैं, जिनमें लगभग 62 लाख से अधिक यात्रियों घर पहुंचाया गया. पिछले हफ्ते लगभग 100 ऐसी ट्रेनें चलाई गई, जिनमें रविवार को सिर्फ तीन ट्रेनें संचालित की गईं. श्रमिक विशेष ट्रेनों के लिए कोई बकाया राशि नहीं है, सभी राज्यों द्वारा भुगतान कर दिया गया है. “

अधिक विशेष यात्री ट्रेनें चलाने के बारे में पूछे जाने पर, उन्होंने कहा कि इस पर गृह मंत्रालय (एमएचए) के परामर्श से निर्णय लिया जाएगा. उन्होंने कहा “हमने अब तक जो ट्रेनें शुरू की हैं, वे गृह मंत्रालय के परामर्श से की गई हैं. अधिक ट्रेनों को चलाने से पहले भी हम उनसे सलाह लेंगे. मूल्यांकन और संवाद लगभग साप्ताहिक आधार पर होता है.” रेलवे वर्तमान में 230 विशेष यात्री ट्रेनें चला रहा है, जिसमें 73% की संचयी क्षमता है.

'कोरोना काल' में भी अंबानी की रिलायंस का जलवा, 150 अरब डॉलर वाली देश की पहली कंपनी बनी

इंडियन रेलवे ने चीनी कंपनी से तोड़ा लगभग 500 करोड़ का कॉन्ट्रैक्ट, बताई ये बड़ी वजह

First published: 23 June 2020, 9:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी