Home » इंडिया » Pehlu Khan lynching case: new investigation team formed for re-investigation
 

पहलू खान लिंचिंग केस: अशोक गहलोत ने फिर से जांच के लिए बनाई नई इन्वेस्टीगेशन टीम

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 August 2019, 13:34 IST

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मॉब लिंचिंग में मारे गए पहलू खान मामले की नए सिरे से जांच के लिए तीन सदस्यीय विशेष जांच दल का गठन किया. इस मामले में अदालत ने छह आरोपियों को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया था. एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि गहलोत ने जांच और अदालत के निष्कर्षों में कमियों की जांच के लिए एक समीक्षा बैठक की.

बैठक में अतिरिक्त मुख्य गृह सचिव राज्य के पुलिस प्रमुख, कानून के प्रमुख सचिव और अपराध के लिए अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक ने भाग लिया. विशेष जांच दल जांच में त्रुटियों और अनियमितताओं की पहचान करेगा और जिम्मेदारी तय करेगा. यह मौखिक और दस्तावेजी सबूतों की भी जांच करेगा जो पहले एकत्र नहीं किए गए थे. गहलोत ने कहा कि फैसले के खिलाफ अपील तैयार करने के लिए एक वरिष्ठ वकील को काम पर रखा जाएगा. टीम 15 दिनों के भीतर अपनी रिपोर्ट देगी.


 

बुधवार को राजस्थान के अलवर जिले में अतिरिक्त जिला न्यायाधीश अदालत ने पहलू खान मामले में सभी छह आरोपियों को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया था. जबकि तीन अन्य आरोपी जो अपराध के समय नाबालिग थे, पर जुवेनाइल न्यायालय में अलग से मुकदमा चलाया जा रहा है. राजस्थान सरकार ने कहा है कि वह फैसले के खिलाफ अपील करेगी. अप्रैल 2017 में जयपुर-दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग पर मॉब लिंचिंग में पहलू खान की मौत हो गई थी. 55 वर्षीय डेयरी किसान 1 अप्रैल को जयपुर में अपने गृहनगर नूंह में गायों को ले जा रहा था.

बिहार: बाहुबली विधायक अनंत सिंह के बुरे दिन शुरू, कभी नीतीश कुमार को तौला था चांंदी के सिक्कों से

First published: 17 August 2019, 13:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी