Home » इंडिया » People of Deoghar facing acute water shortage due to water scarcity in Jharkhand
 

देवगढ़ में पानी की एक-एक बूंद को तरस रहे लोग, जमीन से पानी की जगह निकल रहे हैं पत्थर

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 May 2019, 13:11 IST

गर्मी का मौसम है, इंसान ही नहीं पशु पक्षी भी पानी की खासी जरूरत पड़ रही है. ऐसे में अगर कहीं पानी की किल्लत शुरु हो जाए तो फिर वहां के बाशिंदों पर परेशानियां टूूटने का खतरा भी बढ़ने लगेगा. ऐसा ही कुछ झेल रहे हैं झारखंड के देवगढ़ इलाके के लोग. जहां लोग पानी की एक-एक बूंद के लिए तरह रहे हैं.

झारखंड का देवगढ़ इलाका इनदिनों भारी सूखे से जूझ रहा है. यहां के लोग पानी की एक-एक बूंद के लिए तरस रहे हैं. इस इलाके में भूमिगत जलस्तर इतना गिर गया है कि हैंड पंप ने काम करना बंद कर दिया है. यही नहीं जमीन से पानी निकालने वाले सभी विकल्प फेल हो गए हैं. स्थानीय लोगों का कहना है कि खुदाई करने पर जमीन से पानी की जगह सिर्फ पत्थर निकल रहे हैं.

लोगों का कहना है कि पानी की समस्या यहां इसी साल पैदा हुई है. देवगढ़ में नगर निगम के सीईओ अशोक सिंह का कहना है कि, ‘’देवघर का 75 फीसदी क्षेत्र सूखे में बदल गया है. नगर निगम एक वैकल्पिक समाधान खोजने की कोशिश कर रहा है.’’ उन्होंने बताया है कि पानी के संकट से जूझ रहे इलाकों में पानी के टैंकर उपलब्ध कराए गए हैं. अशोक सिंह के मुताबिक एक नई परियोजना शुरू की जाएगी, जिससे पुनासी की तरफ से देवघर को पानी उपलब्ध कराया जाएगा.

लोगों को पानी की समस्या से निजात दिलाने के लिए नगर निगम ये दावा कर रहा है कि आने वाले दिनों में स्थिति में सुधार होगा. हालांकि सबसे बड़ी समस्या से अभी बनी हुई है जब लोग यहां पानी के लिए तरह रहे हैं. अब देखना ये होगा कि नगर निगम या राज्य सरकार इस इलाके के लोगों को इस समस्या से कबतक बाहर निकाल पाती है. वरना प्रशासन और सरकार के विकास के तमाम दावे झारखंड के देवगढ़ में आकर दम तोड़ देंगे.

दिल्ली पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, दो लाख का इनामी जैश का आतंकी अब्दुल मजीद गिरफ्तार

First published: 14 May 2019, 13:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी