Home » इंडिया » People use public toilet sewage gas to cook food, public toilet gas in kitchen
 

यहां के लोग पब्लिक टॉयलेट के सीवर की गैस से बनाते हैं स्वादिष्ट खाना

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 October 2018, 14:02 IST

कुछ समय पहले प्रधानमंत्री मोदी के 'नाले की गैस से चाय बनाने' वाला बयान काफी चर्चा में रहा. लेकिन देश में वाक़ई में कई लोग ऐसे हैं जो घर का खाना बनाना के लिए पब्लिक टॉयलेट की सीवेज गैस का इस्तेमाल करते हैं. तमिलनाडु के तंबरम निगम के लोग अपना खाना पब्लिक टॉयलेट की सीवेज गैस से बनाते हैं. ये लोग अभी से नहीं बल्कि कई सालों से सीवेज गैस को रसोई गैस में बदल कर अपने घरों में पब्लिक टॉयलेट की गैस से खाना पका रहे हैं.

द हिंदू की एक रिपोर्ट के अनुसार, यहां रहने वाले लोगों को मुफ्त में इको-फ्रैंडली गैस मिल रही है, जिससे वो अपने घर में खाना बना रहे हैं. हालांकि द हिंदू की ये रिपोर्ट पुरानी है, लेकिन पीएम मोदी के बयान के बाद इसे दोबारा से जोर शोर से प्रचारित किया जा रहा है. इतना ही नहीं तंबरम के लोग अपील कर रहे हैं कि सभी लोग इस तकनीकि के इस्तेमाल को बढ़ावा दें.


 90 लाख में बना होटल जैसा लग्ज़री पब्लिक टॉयलेट, मुफ्त होंगी सुविधाएं

गौरतलब है कि तंबरम नगर निगम ने एक बायो-मैथनेशन प्लांट लगाया है जो पब्लिक टॉयलेट में सीवर से गैस बनाता है. इस प्रोजेक्ट को नम्मा टॉयलेट का नाम दिया गया है. इस प्रोजेक्ट के शुरू होने के बाद इसे स्थानीय जगहों से काफी सकारात्मक प्रतिक्रियाएं मिल रहीं हैं. इस प्रोजेक्ट में गैस बनाते समय स्वच्छता का भी ध्यान रखा गया है. इस प्रोजेक्ट से बनी गैस से 12 स्टोव जलाए जाते हैं. इस प्रोजेक्ट से बनने वाली गैस का फायदा यहां रहने वाले सभी लोग को हो रहा है.

गौरतलब है कि पब्लिक टॉयलेट का निर्माण 2003 में 10 लाख रुपये की लागत किया गया था. इस प्रोजेक्ट में बनने वाली गैस के बारे में अधिकारीयों का कहना है, ''वरेज से मीथैन गैस बनती है और यह 12 पाइपों के माध्यम से किचन में आती है. इससे आसानी से स्टोव जलाकर खाना बनाया जा सकता है. यह सभी लोगों के लिए फ्री है.''

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों का नहीं होगा असर, PhonePe, Paytm से पाएं 7500 तक का कैशबैक

First published: 3 October 2018, 14:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी