Home » इंडिया » PepsiCo sued Gujarat's potato farmers
 

PepsiCo ने गुजराती किसानों को आलू उगाने से रोका, ठोका करोड़ों का मुकदमा

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 April 2019, 17:24 IST

 

जानीमानी कोल्डड्रिंक और चिप्स निर्माता कंपनी पेप्सिको ने चार गुजराती आलू किसानों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर 1.05 करोड़ की मांग की है. कंपनी का दावा है कि ये किसान आलू की उस किस्म का उत्पादन कर रहे हैं, जिनसे वह अपने मशहूर लेज चिप्स बनाती है और इस किस्म पर उसका कॉपीराइट है.

पेप्सिको का कहना है कि अगर किसान अपने आलू के चिप्स में इस्तेमाल किए गए पंजीकृत आलू की किस्म को बढ़ाना बंद कर देते हैं तो वह समझौता करने को तैयार हैं. शुक्रवार को अहमदाबाद के एक सिविल कोर्ट में पेप्सिको के वकील ने इन शर्तों की बात की. वकील ने कहा कि किसानों को वचन देना होगा कि वे इसकी पंजीकृत किस्म का उपयोग नहीं करेंगे और अपने मौजूदा स्टॉक को सरेंडर करेंगे, या पेप्सीको के कृषि कार्यक्रम में शामिल होंगे.

 

दूसरी ओर किसानों के वकील ने कहा कि उन्हें इस प्रस्ताव पर विचार करने और अदालत में जवाब देने के लिए समय चाहिए. इस मामले में अगली सुनवाई 12 जून को है. कई कृषि एक्टिविस्टों का कहना है कि सरकार को पेप्सिको पर झूठा मुकदमा करने के लिए दबाव बनाना चाहिए. किसान समूहों के साथ-साथ कॉरपोरेट खेती उद्योग के लिए, इस मामले को एक मिसाल के रूप में देखा जा रहा है जो देश में अन्य खाद्य फसलों को विकसित, बोया और बेचे जाने का दूरगामी प्रभाव हो सकता है.

पेप्सिको इंडिया के प्रवक्ता ने कहा, "इस उदाहरण में हमने उन लोगों के खिलाफ न्यायिक सहारा लिया, जो हमारे पंजीकृत विविधता में अवैध रूप से काम कर रहे थे. यह हमारे अधिकारों की रक्षा और हमारे साथ लगे किसानों के बड़े हित की रक्षा के लिए किया गया है. साथ ही जो हमारे पंजीकृत विविधता के बीज से उपयोग और लाभ उठा रहे हैं."

द हिन्दू की रिपोर्ट के अनुसार गुजरात खेड़ूत समाज के बद्रीभाई जोशी “ये भारत में किसानों के खिलाफ कथित आईपीआर उल्लंघन के पहले मामलों में से एक हैं. गलत तरीके से निर्णय लिया गया, इससे किसानों की आजीविका पर काफी प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा. ऑल इंडिया किसान सभा के महासचिव हन्नान मोल्लाह ने कहा,“ यह डब्ल्यूटीओ शासन के तहत किसानों के कारपोरेट शोषण का मामला है, एक किसान संगठन जिसने लेट्स चिप्स और अन्य सभी पेप्सिको आलू उत्पादों का बहिष्कार करने का आह्वान किया है.

टाटा स्टील के यूके प्लांट में 3 धमाके, आवाज से हिल गए आसपास के मकान

First published: 26 April 2019, 17:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी