Home » इंडिया » PM modi accepts Economist Surjeet Bhalla resignation, second resign after RBI governor
 

मोदी सरकार के लिए एक और बुरी खबर, RBI गवर्नर के बाद PM मोदी के आर्थिक सलाहाकार ने दिया इस्तीफा

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 December 2018, 13:23 IST

देश में आज पांच राज्यों की विधानसभा के लिए नतीजे आने वाले हैं. इसी बीच मोदी सरकार को एक इस्तीफ़ा मिल गया है. सत्ता पर काबिज मोदी सरकार के शीर्ष पदों के इस्तीफों का दौर थम नहीं रहा है. बीते सोमवार को ही रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया के गवर्नर उर्जित पटेल ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद अब प्रधानमंत्री मोदी के ‘आर्थिक सलाहकार परिषद’ के सदस्य सुरजीत भल्ला ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. मशहूर अर्थशास्त्री सुरजीत भल्ला ने आज यानी मंगलवार को अपने इस्तीफे की जानकारी दी.

गौरतलब है कि सुरजीत भल्ला पीएम मोदी की आर्थिक सलाहकार परिषद में पार्ट-टाइम सदस्य के रूप में काम कर रहे थे. सुरजीत भल्ला के इस्तीफे की पुष्टि पीएमओ ने भी की है. पीएमओ ने जारी एक बयान में बताया कि भल्ला का इस्तीफा पीएम मोदी ने स्वीकार कर लिया है. यह भी बताया गया है कि सुरजीत भल्ला अब पीएम मोदी की आर्थिक सलाहाकार परिषद् छोड़कर किसी दूसरे संस्थान में काम करने के लिए जा रहे हैं.

बता दें कि मशहूर अर्थशास्त्री सुरजीत भल्ला 'द इंडियन एक्सप्रेस' में 'नो प्रूफ रिक्वॉयर्ड' के नाम से लेख लिखते हैं. पहले अपने लेखों में वो अपना परिचय बतौर आर्थिक सलाहकार परिषद के सदस्य के रूप में करते थे लेकिन मंगलवार को छपे लेख में उन्होंने इस पहचान को जगह नहीं दी.

ये भी पढ़ें-  'कांग्रेस अध्यक्ष' का आज B'day, मिल सकता है सत्ता का तोहफा, हो सकता है राजतिलक

हालांकि सुरजीत भल्ला को मोदी सरकार के समर्थकों के रूप में देखा जाता है. लेकिन अभी एक दिसंबर को उन्हें नीति आयोग पर तीखा हमला करते हुए सरकार की अप्रत्यक्ष रूप से कड़ी आलोचना करते देखा गया था. नीति आयोग के बारे में उन्होंने लिखा, ” मैं और मेरे अलावा कई लोग मानते हैं कि नीति आयोग को एससीओ (सेंट्रल स्टैटिस्टिक ऑफिस) के डाटा आंकलन में सीधे तौर पर शामिल करना गैर-जरूर था.”

गौरतलब है कि स्वयं प्रधानमंत्री मोदी ने देश की आर्थिक व्यवस्था को सुधारने के उद्देश्य से सितंबर 2017 में आर्थिक सलाहकार परिषद का गठन किया था.

First published: 11 December 2018, 13:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी