Home » इंडिया » PM Modi addresses the annual Krishi Unnati Mela at Indian Agricultural Research Institute in Delhi
 

कृषि उन्नति मेला: किसानों को लेकर चिंतित पीएम मोदी बोले- धरती किसानों की मां है, उसे जलाइए मत

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 March 2018, 15:16 IST

शनिवार को प्रधानमंत्री मोदी ने नई दिल्ली में कृषि उन्नति मेले की शुरुआत की. मेले के माध्यम से उन्होंने 25 कृषि विज्ञान केंद्रों की भी आधारशिला रखी. कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि न्यू इंडिया को इसी तरह के उन्नति मेले की जरूरत है. उन्होंने किसानों से पराली जलाना छोड़ने की अपील की.

पीएम मोदी ने कार्यक्रम में पराली जलाने को लेकर कहा कि धरती किसानों की मां है उसे जलाइए मत. पराली को मशीनों से हटाएं तो उसका उपयोग खाद के तौर पर बढ़ सकेगा. उन्होंने कहा कि जब हम Crop Residue को जला देते हैं तो ये सारे अहम तत्व जलकर हवा में चले जाते हैं. इससे प्रदूषण तो होता ही है, किसान की मिट्टी को भी नुकसान होता है.

 

किसानों की आय को लेकर चिंतित पीएम मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार किसानों की आय दोगुना करने के लिए लगातार काम कर रही है. हालांकि समय के साथ जो चुनौतियां खेती से जुड़ती चली गईं, वो आज के इस दौर में बहुत अहम हैं.

प्रधानमंत्री किसान बीमा योजना की बात करते हुए उन्होंने कहा कि इसके कारण किसानों को काफी फायदा पहुंच रहा है. मोदी ने कहा कि आज देश में 11 करोड़ से ज्यादा सॉयल हेल्थ कार्ड बांटे जा चुके हैं, सॉयल हेल्थ कार्ड से मिल रही जानकारी के आधार पर, जो किसान खेती कर रहे हैं, उनकी पैदावार बढ़ने के साथ-साथ खाद पर खर्च भी कम हो रहा है.

प्रधानमंत्री सिंचाई योजना पर उन्होंने कहा कि इसके तहत हर खेत को पानी के विजन के साथ कार्य किया जा रहा है. जो सिंचाई परियोजनाएं दशकों से अधूरी पड़ी थी, उन्हें 80 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च करके पूरा किया जा रहा है.

 

पीेएम ने कहा कि इस बजट में जिस ऑपरेशन ग्रीन का ऐलान किया है, वो भी नई सप्लाई चेन व्यवस्था से जुड़ा है. ये फल और सब्जियां पैदा करने वाले और खासतौर पर 'TOP' यानि Tomato, Onion और Potato उगाने वाले किसानों के लिए लाभकारी रहेगा.

पढ़ें- केजरीवाल के लिए नई मुसीबत, AAP पार्टी का पंजाब धड़ा बना सकता है नई पार्टी

पीएम मोदी ने कहा कि कुछ लोग MSP के नाम पर भ्रम फैला रहे हैं. किसानों को आधुनिक बीज मिले, आवश्यक बिजली मिले, बाजार तक कोई परेशानी न हो, उन्हें फसल की उचित कीमत मिले, इसके लिए हमारी सरकार दिन-रात एक कर रही है. न्यूनतम समर्थन मूल्य के ऐलान का पूरा लाभ किसानों को मिले, इसके लिए हम राज्य सरकारों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं.

First published: 17 March 2018, 15:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी