Home » इंडिया » PM modi addressing to self help group women through video conference
 

महिलाओं के बिना कृषि और डेयरी सेक्टर की कल्पना नहीं है संभव: पीएम मोदी

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 July 2018, 12:09 IST

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को दीनदयाल अंत्योदय योजना के तहत स्वयं सहायता समूह के सदस्यों के साथ वीडियोे कॉन्फेंसिंग के जरिए बात की. दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (डीएवाई-एनआरएलएम) एवं डीडीयू-जीकेवाई तथा आरएसईटीआई के सदस्यों के साथ वीडियो कॉन्फेंस का आयोजन किया गया.

पीएम ने कहा कि महिला सशक्तिकरण का मतलब महिलाओं को सामान अवसर देना है. पीएम मोदी ने देश की महिलाओं की तारीफ करते हुए कहा कि देश की महिलाओं में ताक़त है और वे कुछ भी कर सकती हैं. मोदी देश की महिलाएं परिवार,समाज का ख्याल रखती हैं, महिलाएं सबसे बेहतर टाइम मैनेजमेंट करती हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि छत्तीसगढ़ के 22 जिलों में 122 बिहान बाजार आउटलेट बनाए गए हैं जहां स्वंय सहायता समूहों के 200 वैरायटी के प्रोडक्ट बेचे जाते हैं.

ये भी पढ़ें- 'मुस्लिमों से दूरी' मुद्दे पर राहुल का जवाब, सबको साथ लेकर चलती है कांग्रेस

पीएम मोदी ने कहा कि दीनदयाल अंत्योदय योजना के तहत युवाओं को रोजगार और स्व-रोजगार, दोनों के लिए ट्रेनिंग दी जा रही है.

पीएम मोदी ने कहा कि आर्थिक निर्भरता महिलाओं को सामाजिक बुराइयों से लड़ने की ताक़त देती है. मोदी ने कहा कि हर सेक्टर में महिलाओं की भागीदारी देखी जा सकती है. उन्होंने कहा कि देश के एग्रीकल्चर सेक्टर और डेयरी सेक्टर की तो महिलाओं के योगदान के बिना कल्पना ही नहीं की जा सकती.

ये भी पढ़ें- 'मुस्लिमों से दूरी' मुद्दे पर राहुल का जवाब, सबको साथ लेकर चलती है कांग्रेस

गौरतलब है कि दीनदयाल अंत्योदय योजना-एनआरएलएम महिला सशक्तीकरण के लिए सबसे बड़े मंच के रूप में सामने आया है. आंकड़ों के अनुसार मई, 2018 तक 45 लाख स्वयं सहायता समूहों में 5 करोड़ से अधिक महिलाओं को संगठित किया जा चुका है.

First published: 12 July 2018, 12:09 IST
 
अगली कहानी