Home » इंडिया » PM modi angree with CBI war, Ajit Doval will lead the case now
 

सीबीआई में घमासान से PM मोदी नाराज, अब डोभाल संभालेंगे मोर्चा !

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 October 2018, 9:57 IST

सीबीआई का घमासान थमने के बजाय और भी ज्यादा बढ़ता जा रहा है. सीबीआई की इस लड़ाई को नंबर एक बनाम नंबर दो भी कहा जा रहा है. इसी सीबीआई वॉर के चलते सीबीआई ने अपने ही हेडक्वार्टर में छापा कर कर मीट कारोबारी मोईन कुरैशी करप्शन केस से जुड़े दस्तावेज जब्त कर लिए. वहीं इस केस को कमजोर बनाने के आरोप में मामले की जांच कर रहे अधिकारी और अस्थाना टीम के मुख्य सदस्य DSP देवेंद्र कुमार की भी गिरफ्तारी कर ली गई है. वहीं सरकार भी इस पूरे मामले में अपनी सख्त नजर बनाए हुए है.

सूत्रों की मानें तो संभावना है कि सरकार इस मामले में फैक्ट्स की जांच कराने के लिए अजीत डोभाल को जिम्मेदारी सौंप सकती है. माना जा रहा है इस पूरे घटनाक्रम पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी नाराजगी भी जताई है. इस मामले को लेकर पीएमओ में मीटिंग का दौर चालू है. सूत्रों के अनुसार, आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना दोनों को ही समन कर पीएम ने अपनी नाराजगी जता दी है. सरकार इस मामले को जल्द से जल्द खत्म करना चाहती है.

वहीं एनबीटी की खबर के अनुसार पीएम चाहते हैं कि दोनों ही अधिकारी इस जांच एजेंसी से अलग हो जाएं. सरकार की तरफ से ऐसे भी कुछ संकेत हैं कि इस मामले की जिम्मेदारी अब राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को सौंपी जा सकती है.

CBI के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना पर 3 करोड़ रुपये की घूस लेने का आरोप लगा

गौरतलब है कि सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना और डायरेक्टर अलोक वर्मा खुलकर आमने सामने आ गए हैं. दोनों एक दूसरे पर भ्रष्टाचार के आरोप लगा रहे हैं. देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी की इससे दयनीय स्थिति क्या होगी जब एजेंसी को संभालने वाले वाले की सवालों में घेरे में हों. सीबीआई की यह लड़ाई अब राजनीति में भी तब्दील होती जा रही है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के रिश्वत मामले में फंसने पर हमला किया. स्पेशल डायरेक्टर अस्थाना पर मनी लॉन्ड्रिंग और भ्रष्टाचार के आरोपी मीट व्यापारी मोइन कुरैशी से 3 करोड़ रुपए की घूस लेने का आरोप है.

सीबीआई ने राकेश अस्थाना के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है. कारोबारी सतीश सना की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया है. सना मोइन कुरैशी से 50 लाख रुपये लेने के मामले में जांच के घेरे में था. इस मामले की जांच के लिए गठित एसआईटी का नेतृत्व अस्थाना कर रहे थे. सीबीआई ने साना की शिकायत के आधार पर स्पेशल डायरेक्टर अस्थाना, सीबीआई डीएसपी देवेंद्र कुमार, मनोज प्रसाद, कथित बिचौलिए सोमेश प्रसाद और पर भी मामला दर्ज किये.

 

First published: 23 October 2018, 9:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी