Home » इंडिया » PM Modi angry with tripura cm Biplab Kumar Deb over his statement calls him delhi
 

बिप्लब देब के बयानों से नाराज पीएम मोदी ने उठाया सख्त कदम

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 April 2018, 10:47 IST

पूर्वोत्तर राज्य त्रिपुरा से बीजेपी के नए-नवेले सीएम बिप्लब देव लगातार विवादित बयानबाजी से भारतीय जनता पार्टी को मुश्किल में डाल रहे हैं. इसे लेकर पीएम मोदी ने सख्त कदम उठाया है. खबर है कि पीएम मोदी ने उन्हें दिल्ली तलब किया है.

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने रविवार को अपने मन की बात कार्यक्रम में बीजेपी नेताओं को हिदायत दी थी कि वह ऊल-जलूल बयानबाजी कर मीडिया को मसाला देने से बचें. पीएन ने यह भी कहा था कि इन बयानबाजी से पार्टी की साख को नुकसान पहुंचता है लेकिन फिर भी बिप्लब देब की बयानबाजी जारी रही.

इसे लेकर बीजेपी के कई नेताओं ने पीएम मोदी से शिकायत की थी. एक वरिष्ठ बीजेपी नेता ने नाम न बताने की शर्त पर कहा कि त्रिपुरा के युवा सीएम के रोजगार, शिक्षा, संस्कृति पर दिये गये बयानों का असर कर्नाटक विधानसभा चुनाव पर हो सकता है. इसके बाद पीएम ने बिप्लब देब को दिल्ली बुलाया है.

 

उन्होंने कहा कि बीजेपी नेता देब से नाराज हैं, क्योंकि वह कुछ भी और कभी भी बोल रहे हैं, मोदी जी उनसे इस बारे में बात करेंगे. बीजेपी नेता ने कहा कि त्रिपुरा के लोगों ने बीजेपी के पक्ष में इसलिए मतदान किया था क्योंकि लोग चाहते थे कि सरकार विकास पर फोकस करे और बिना वजह के विवाद पैदा ना करें.

बीजेपी नेता ने कहा, “हमने आलाकमान को कहा है कि मुख्यमंत्री पर थोड़ी लगाम लगाई जाए, क्योंकि बीजेपी 2019 लोकसभा चुनावों के लिए गंभीरता से तैयारी कर रही है, पार्टी पूर्वोत्तर में 25 में से 21 सीट जीतना चाहती है ऐसे में ये बयान लोगों पर असर डाल सकते हैं. हमें लगातार फोन कॉल मिल रहे हैं, सोशल मीडिया पर खूब आलोचनाएं हो रही हैं.”

बता दें कि बिप्लब देब द्वारा ऊल जूलल बयानबाजी का सिलसिला पिछले सप्ताह शुरू हुआ था. पिछले हफ्ते उन्होंने कहा था कि महाभारत काल में इंटरनेट मौजूद था. इसके लिए उन्होंने संजय द्वारा कौरव सम्राट धृतराष्ट्र को युद्ध का सजीव चित्रण बताये जाने का हवाला दिया था.

पढ़ें- बेंगलुरु: 6 साल की बच्ची से बलात्कार और हत्या के मामले में कोर्ट ने सुनाई मौत की सजा

बिप्लब देव के इस बयान के बाद उन्होंने बेतुके बयानों की झड़ी लगा दी. इसके बाद उन्होंने ऐश्वर्या राय भारतीय सुंदरता का प्रतीक बना दिया और डायना हेडेन को विश्व सुंदरी चुने जाने पर सवाल उठा दिया. उन्होंने कहा कि बेरोजगारों को सरकारी नौकरी के लिए इंतजार नहीं करना चाहिए बल्कि पान का दुकान लगानी चाहिए और सिविल सर्विस की तैयारी सिविल इंजीनियरों द्वारा करने की बात भी वह कह चुके हैं.

First published: 30 April 2018, 10:47 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी