Home » इंडिया » PM Modi arrived at Stockholm to embark on his two day visit to Sweden as part of India Nordic Summit
 

स्वीडन में PM मोदी की धूम, स्वीडिश पीएम ने प्रोटोकॉल तोड़कर किया भारतीय प्रधानमंत्री का स्वागत

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 April 2018, 8:43 IST

प्रधानमंत्री मोदी पांच दिनों की विदेश यात्रा पर सोमवार(16 अप्रैल) को स्वीडन पहुंचे. वह देर रात स्टॉकहोम पहुंचे. यहां उन्होंने भारतीय समुदाय के लोगों से मुलाकात की. स्वीडिश प्रधान मंत्री ने प्रोटोकॉल तोड़ पीएम मोदी का स्वागत किया. वह पीएम मोदी का स्वागत करने के लिए एयरपोर्ट आए. इसके अलावा पीएम मोदी का स्वागत वहां रहने वाले हिंदुस्तानियों ने बेहद उत्साहित अंदाज में किया.

प्रधानमंत्री मोदी इस यात्रा पर व्यापार और निवेश सहित कई महत्वपूर्ण क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग को मजबूत बनाने पर जोर देंगे. रात को जैसे ही पीएम मोदी स्वीडन पहुंचे, उससे पहले ही सैकड़ों भारतीयों ने उनसे मिलने और देखने का इंतजार कर लिया था. पीएम ने भी अपने चाहने वालों को निराश नहीं किया और करीब जाकर हाथ मिलाकर उनका अभिवादन स्वीकार किया.

 

वहीं एयरपोर्ट पर पीएम का स्वागत खुद स्वीडिश प्रधानमंत्री स्टेफन लोफवेन ने किया. पहली बार स्वीडन के प्रधानमंत्री परंपरा तोड़कर नरेंद्र मोदी की अगुआई के लिए एयरपोर्ट पहुंचे. बता दें कि 30 सालों बाद भारत का कोई प्रधानमंत्री स्वीडन के दौरे पर गया है. मोदी स्वीडन में भारत-नोर्डिक समिट में हिस्सा लेंगे. इसके अलावा स्वीडन के प्रधानमंत्री के घर पर दोनों नेताओं की मुलाकात होगी.

 

इसके बाद पीएम मोदी लंदन के लिए रवाना होंगे. इंग्लैंड का दौरा खत्म करने के बाद पीएम मोदी कुछ वक्त के लिए जर्मनी भी जाएंगे. 17 अप्रैल को मोदी कई बैठकों में शामिल होंगे. अपनी ब्रिटेन यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री ब्रिटेन के साथ द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत बनाने पर चर्चा करेंगे. इसके अलावा मोदी राष्ट्रमंडल देशों के शासनाध्यक्षों के सम्मेलन (चोगम) में भाग लेंगे. देश वापसी के दौरान वह 20 अप्रैल को बर्लिन में कुछ देर के लिए ठहरेंगे.

पढ़ें- जम्मू कश्मीरः लापता आर्मी जवान के आतंकी संगठन में शामिल होने की आशंका

16 से 21 अप्रैल तक निर्धारित स्वीडन और ब्रिटेन की यात्रा पर रवाना होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा था कि वह व्यापार, निवेश और स्वच्छ ऊर्जा समेत विभिन्न क्षेत्रों में दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय साझेदारी गहरा बनाने को लेकर आशान्वित हैं.

First published: 17 April 2018, 8:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी