Home » इंडिया » PM Modi Defends low Economy and his govt Says Slowdown 'Exaggerated By Pessimists.
 

पीएम मोदी ने गिरती अर्थव्यवस्था पर विरोधियों को दिया करारा जवाब

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 October 2017, 12:04 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को पहली बार हाल में गिरती अर्थव्यवस्था को लेकर उठ रहे सवालों पर अपनी चुप्पी तोड़ी. पीएम मोदी ने अर्थव्यवस्था में सुस्ती की बात को खुलकर स्वीकार किया. इसी के साथ ही पीएम मोदी ने उनकी सरकार के दौरान अर्थव्यवस्था पर सवाल उठा रहे विरोधियों का करारा जवाब दिया.

पीएम मोदी ने आलोचकों से कहा कि वे नकारात्मकता न फैलाएं और साथ ही उन्होंने अर्थव्यवस्था को वापस पटरी पर लाने का वादा किया. मोदी ने कहा, "पिछले तीन सालों में 7.5 प्रतिशत विकास दर के बाद गिरावट आई है. मैं इससे इनकार नहीं कर रहा हूं. सरकार अर्थव्यवस्था की समस्या से निपटने के लिए पूरी तरह वचनबद्ध है. हम निर्णय लेने के लिए तैयार हैं."

उन्होंने कहा, "हमने कई सारे कदम उठाए हैं. वित्तीय स्थिरता बनाए रखी जाएगी. हम निवेश और आर्थिक विकास को बढ़ाने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएंगे." मोदी इंस्टीट्यूट ऑफ कंपनी सेकेट्ररीज के स्वर्ण जयंती समारोह को संबोधित कर रहे थे. मोदी ने यह बात ऐसे समय में कही है, जब भाजपा नेता यशवंत सिन्हा और विपक्षी दलों ने आर्थिक सुस्ती और बेरोजगारी को लेकर तीखा हमला बोला है, जिसके बाद अर्थव्यवस्था की सेहत को लेकर बहस शुरू हो गई है.

मोदी ने कहा कि नीतियों में सभी बदलाव का उद्देश्य गरीबों, निम्न मध्य वर्ग, और मध्य वर्ग के जीवन स्तर को सुधारना है. उन्होंने आलोचकों की तुलना महाभारत के शल्य से की, जो कर्ण का सारथी था. वह हमेशा राजा को हतोत्साहित करता रहता था. मोदी ने कहा कि ऐसे लोगों को पहचानने की जरूरत है.

मोदी ने कहा कि उनकी "सरकार संवेदनशील है और कड़ी आलोचना का भी स्वागत करती है और हम उन सभी को विनम्रता और गंभीरता से लेते हैं." मोदी ने कहा, "मैं सभी को, अपने आलोचकों को भी, आश्वस्त करना चाहता हूं कि हम ऐसा नहीं मानते कि सबकुछ गलत है. लेकिन नकारात्मकता फैलाने से बचना चाहिए."

First published: 5 October 2017, 12:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी