Home » इंडिया » PM Modi gift to farmers on New Year 11 thousands crore will be sent to accounts of six crore farmers
 

पीएम मोदी का नए साल में किसानों को बड़ा तोहफा, खातों में भेजे जाएंगे 12 हजार करोड़

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 January 2020, 9:10 IST

Prime Minister Modi : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज से दो दिनों के कर्नाटक (Karnataka) दौरे पर रहेंगे. इस दौरान वह नए साल में देश के 6 करोड़ किसानों (Farmers) को तोहफा देंगे. दरअसल, पीएम मोदी (PM Modi) गुरुवार को देश के छह करोड़ किसानों के खातों में पीएम-किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi) के तहत दिसंबर महीने की किस्त के रूप में 12,000 करोड़ रुपये भेजेंगे. हालांकि इस योजना का लाभ पश्चिम बंगाल (West Bengal) के किसानों को नहीं मिल पाएगे.

क्योंकि वहां के किसान अब तक पीएम-किसान सम्मान निधि योजना से नहीं जुड़ पाए हैं. पीएम मोदी आज कर्नाटक के तुमकूर में आयोजित एक कार्यक्रम में इस योजना के तहत तीसरी किस्त जारी करेंगे. इसमें लाभार्थी किसानों के खातों में 2-2 हजार रुपये भेजे जाएंगे. जो दिसंबर महीने की किस्त के रूप में होंगे.


पीएम-किसान सम्मान निधि योजना का लाभ देशभर के किसान उठा रहे हैं, पश्चिम बंगाल के किसान इस योजना के लाभ से अभी तक वंचित हैं. बता दें कि पंजीकृत किसानों को पीएम-किसान सम्मान निधि का लाभ तभी मिल पाता है. जब प्रदेश सरकार द्वारा इनके पात्र लाभार्थी होने का सत्यापन किया जाएगा. लेकिन पश्चिम बंगाल की सरकार अभी तक 70 लाख किसाों का सत्यापन नहीं कर पाई है.

पीएम-किसान सम्मान निधि पोर्टल पर पंजीकृत किसानों के विवरण राज्य सरकारों को भेजे जाते हैं. जहां से आधार और भू-राजस्व के रिकॉर्ड की जांच के बाद उनकी पात्रता की जांच की जाती है. जांच की इन प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद ही पात्र किसानों के खाते में पीएम-किसान योजना के तहत भेजे जाने वाले रुपये मिलते हैं.

गौरतलब है कि पीएम-किसान सम्मान निधि में एक किसान परिवार को सालाना 6,000 रुपये दिए जा रहे हैं जो सीधे उनके खातों में भेजे जाते हैं. ये रुपये तीन किस्तों में भेजे जाते हैं. प्रत्येक किस्त की राशि 2,000 रुपये होती है. किसानों के लिए ये योजना साल 2018 में शुरु की गई थी. बता दें कि केंद्र सरकार ने 29 दिसंबर तक करीब 9.2 करोड़ किसानों का डाटा संग्रह किया है. जिसमें उत्तर प्रदेश में कुल 2.4 करोड़ किसान हैं, जिनमें से 2 करोड़ किसानों का डाटा संग्रह किया गया है.

2020 में आयी खुशखबरी, दिसंबर महीने में 1.03 लाख करोड़ रहा GST कलेक्शन

पाकिस्तान ने भारत को दी अपने परमाणु प्रतिष्ठानों की सूची, जानिए क्यों ?

150 दिन बाद जम्मू-कश्मीर में लौटी SMS सेवा, सरकारी अस्पतालों में इंटरनेट सेवा

First published: 2 January 2020, 9:10 IST
 
अगली कहानी