Home » इंडिया » Modi goverment doubles PMVVY pension investment limit to ₹ 15 lakh extends scheme by 2 years
 

खुशख़बरी: मोदी सरकार का वरिष्ठ नागरिकों को बड़ा तोहफा, हर महीने मिलेगी 10,000 रुपये पेंशन

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 May 2018, 9:35 IST

वरिष्ठ नागरिकों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा चलाए जा रहे प्रधानमंत्री 'वय वंदन योजना' में केंद्र ने एक बड़ा बदलाव किया है. केंद्र ने इस योजना (पीएमवीवीवाई) में महत्वपूर्ण बदलाव करते हुए निवेश की सीमा बढ़ाकर 15 लाख रुपये करने का फैसला किया है. केंद्र के इस फैसले के बाद अब वरिष्ठ नागरिकों को हर माह 10,000 रुपये पेंशन मिलने का रास्ता साफ हो जाएगा. इसके साथ ही वरिष्ठ नागरिक अब 31 मार्च 2020 तक इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें-कर्नाटक विधानसभा चुनाव: भाजपा का नया प्लान, PM मोदी 15 की जगह करेंगे 21 रैलियां

गौरतलब है कि पीएम मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में इससे जुड़े एक प्रस्ताव को मंजूरी दी गयी. इस फैसले की जानकारी देते हुए कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि प्रधानमंत्री 'वय वंदन योजना' में फिलहाल निवेश की सीमा प्रति परिवार 7.5 लाख रुपये है जिसे कैबिनेट ने बढ़ाकर 15 लाख रुपये करने का फैसला किया है. इससे वरिष्ठ नागरिकों की सामाजिक सुरक्षा का कवर बढ़ जाएगा. वहीं इससे पहले योजना की सदस्यता लेने की अंतिम तारीख 4 मई 2018 थी, लेकिन अब इस योजना के लिए आवेदन 31 मार्च 2020 तक किया जा सकता है. 

बता दें प्रधानमंत्री 'वय वंदन योजना' का क्रियान्वयन भारतीय जीवन बीमा निगम के माध्यम से किया जा रहा है. इस दौरान अगर एलआइसी इस योजना के फंड पर आठ प्रतिशत रिटर्न जनरेट नहीं कर पाती है तो सरकार उसकी भरपाई करने के लिए सब्सिडी देती है. इस योजना का मकसद वैसे नागरिकों जिनकी उम्र 60 साल से अधिक है उनको सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना है. इस योजना का लाभ नागरिक मासिक, तिमाही, छमाही या वार्षिक आधार पर पेंशन ले सकते हैं. 

First published: 3 May 2018, 9:35 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी