Home » इंडिया » PM Modi: If you add a person to BHIM app after 3 transactions by the person Rs.10 will be added to your account
 

पीएम मोदी: भीम ऐप से एक ग्राहक को जोड़िए और 10 रुपये पाइए

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 April 2017, 15:24 IST
(ट्विटर)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डॉक्टर आंबेडकर की जयंती पर भीम ऐप को लेकर प्रोत्साहन राशि का एलान किया. पीएम मोदी ने नागपुर में दीक्षा भूमि पहुंचकर बाबा साहेब को श्रद्धांजलि दी. इस दौरान पीएम ने कहा कि बाबा साहेब का विजन सरकार का मिशन है. पीएम मोदी ने भीम ऐप की खूबियों के बारे में बताया.

पीएम ने कहा कि भीम आधार ऐप दुनिया में अपने किस्‍म का अनोखा ऐप है. दुनिया के सबसे विकसित देशों में भी ऐसा सिस्टम नहीं है. उन्होंने कहा कि यह पूरी तरह से गेमचेंजर साबित होगा और जनता के जीवन पर सकारात्‍मक असर डालेगा. 

भीम ऐप से प्रोत्साहन राशि मिलेगी

पीएम मोदी ने भीम ऐप के साथ रेफरल कार्यक्रम शुरू करने का एलान करते हुए कहा, "यदि आप दूसरों को इसके साथ जोड़ते हैं तो आपको प्रोत्‍साहन राशि दी जाएगी. आप किसी को जोड़ते हैं तो आपको 10 रुपये दिए जाएंगे."

पीएम ने साथ ही मजाकिया लहजे में कहा, "अगर आप ऐसे 20 लोगों को रोज़ाना जोड़ें, तो 200-300 रुपये कमा सकते हैं और पैसे के लिए माता-पिता पर भी निर्भर नहीं रहना पड़ेगा. यह स्कीम 14 अक्टूबर तक लागू रहेगी." 

 

बिजली से होगा विकास

पीएम ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा, "बिजली हमारे जीवन का अनिवार्य हिस्‍सा है. 21वीं सदी में यह हर नागरिक का अधिकार है. विकास तभी संभव है जब बिजली उपलब्‍ध हो. इस लिहाज से हमने अक्षय ऊर्जा क्षेत्र में विशेष ध्‍यान दिया है."

पीएम ने इस दौरान भरोसा दिलाया कि 2022 तक हर किसी का घर का सपना साकार करने के लिए सरकार अथक प्रयास कर रही है. पीएम मोदी ने डिजिटल इकोनॉमी को लोगों के लिए फायदेमंद बताया.  

'आपका मोबाइल आपका एटीएम'

पीएम ने कहा, "भारत डिजिटल इकोनॉमी की तरफ तेजी से बढ़ रहा है. वह दिन दूर नहीं जब गरीब से गरीब भारतीय भी कहेगा कि 'डिजिधन निजी धन है. हम सभी को पैसे की जरूरत है लेकिन यह जरूरी नहीं कि यह कैश की शक्‍ल में हो."

पीएम ने इस दौरान ज्यादा कैश का जिक्र करते हुए कहा, "ज्यादा कैश होने से अधिक समस्‍याएं होती हैं. बेहतर समाज के लिए कम कैश होना जरूरी है. पेपरलेस करेंसी ही हमारा भविष्‍य है. यह सभी समस्‍याओं का निदान है. अब आपका मोबाइल ही आपका एटीएम बन जाएगा." 

इससे पहले प्रधानमंत्री ने नागपुर में दीक्षा भूमि पहुंचकर बाबा साहेब की 126वीं जयंती पर उन्हें याद किया. ये वही जगह है जहां डॉक्टर आंबेडकर ने बौद्ध धर्म की दीक्षा लेते हुए हिंदू धर्म का त्याग किया था.

ट्विटर
First published: 14 April 2017, 15:24 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी