Home » इंडिया » PM Modi in Kozhikode, first public speech after uri attack
 

उरी हमले के बाद कोझिकोड में सार्वजनिक सभा में दहाड़े मोदीः पाकिस्तान को कहा आतंक का सप्लायर मुल्क

पत्रिका ब्यूरो | Updated on: 24 September 2016, 20:02 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक को संबोधित करने कोझिकोड पहुंचे. उरी हमले के बाद पीएम मोदी का यह पहला सार्वजनिक भाषण है. लोगों को उम्मीद है कि इस जनसभा में पीएम मोदी पाकिस्तान को कड़ा जवाब देंगे. पीएम मोदी ने पाकिस्तान का नाम लिए बिना ही कहा कि एक देश पूरी दुनिया में आतंक की सप्लाई कर रहा है. आतंकी या तो उस देश (पाकिस्तान) से दुनियाभर में आतंक फैलाने जाते हैं या दुनिया में आतंक फैलाकर ओसामा बिन लादेन की तरह उस देश में छुप जाते हैं.

कोझिकोड में पंडित दीनदयाल उपाध्याय जनसंघ के अध्यक्ष बनाए गए थे. पीएम मोदी ने कहा कि 50 सालों में किसी ने भी नहीं सोचा होगा कि भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनेगी. उन्होंने कहा कि आज से 50 साल पहले पंडित दीनदयाल उपाध्याय भारतीय जनसंघ के अध्यक्ष बने थे और कल से उनकी जन्मशताब्दी मनाई जाएगी. 

पीएम मोदी के भाषण के महत्वूपर्ण अंश

  • केरल के लोगों को केंद्र की सत्ता में कभी भागीदारी नहीं मिली.
  • केरल के बीजेपी कार्यकर्ताओं ने पूरे देश के कार्यकर्ताओं को प्रेरणा दी. केरल के कार्यकर्ताओं बलिदान बेकार नहीं जाएगा. मछुआरा हो या मजदूर हो दिल्ली में बैठी सरकार उनके बारे में सोच रही है.
  • 21वीं सदी एशिया की सदी है और ये साफ-साफ नजर आ रहा है.

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि पहले का कालीकट और आज का कोझिकोड भाजपा के लिए एक तीर्थ के समान है. केरल में भाजपा का वोट प्रतिशत बढ़ा है और अगले साल यहां भाजपा सरकार बनाएगी. शाह ने कहा कि केरल में भाजपा कार्यकर्ताओं पर अत्याचार हो रहा है. 

अत्याचारों से बीजेपी कार्यकर्ता डरेंगे नहीं. अत्याचार से बीजेपी और मजबूत होगी. मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हम विकास के गवाह रहे हैं. उन्होंने कहा कि गरीबों के लिए रोटी, कपड़ा, मकान और नौकरी का इंतजाम हमको करना है. बीजेपी के शासन में कोई गरीब भूखा नहीं रहेगा.

इस रैली में वैकेया नायडू ने कहा कि हमारे लिए राष्ट्र पहले है और पार्टी बाद में आती है. कांग्रेस के लिए राजनीति राजवंश के लिए है लेकिन वास्तव में यह बुरा है. नायडू ने कहा कि कांग्रेस शासन के दौरान किसी भी नीति की अध्यक्षता पीएम करते थे और फैसले मैडम लेती थी. लेकिन अब प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में फैसला लिया जाता है और टीम उस फैसले का पालन करती है. उन्होंने कहा कि कि आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता, लेकिन कुछ लोग इसे धार्मिक रंग देना चाहते हैं, ताकि इन अपराधों को ढक सकें. अडानी और अंबानी कांग्रेस की मेहरबानी हैं. वे दोनों कांग्रेस की सरकार में अस्तित्व में आए थे.

First published: 24 September 2016, 20:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी