Home » इंडिया » PM Modi on Pravasi Bhartiya Divas: We don't look passport color but blood relation instead
 

पीएम मोदीः हमारे लिए पासपोर्ट नहीं खून का रिश्ता देखना जरूरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 January 2017, 17:09 IST

बेंगलुरू में आयोजित प्रवासी भारतीय दिवस का पीएम मोदी ने रविवार को उद्घाटन किया. उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि विदेश में रहने वाले भारतीयों की सुरक्षा और कल्याण सरकार की प्राथमिकता है.

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि वे चाहते हैं कि भारतीय दूतावास सक्रियता से अपना काम करे और वहां रहने वाले भारतीयों की मदद के लिए 24 घंटे उपलब्ध रहें. हम पासपोर्ट का कलर नहीं देखते हैं, खून का रिश्ता देखते हैं. कोई दुनिया के किसी भी देश में क्यों न रहता हो उसे भारत से करीबी का अहसास होना चाहिए.

14वें प्रवासी दिवस सम्मेलन के उद्घाटन समारोह में प्रधानमंत्री मोदी विदेशों में रहने वाले एनआरआई लोगों की सुरक्षा को लेकर चितिंत नजर आए. उन्होंने कहा कि पहले ब्रेन ड्रेन को लेकर चिंता जताई जाती थी. वहीं, अब हमें ब्रेन गेन को लेकर बात करनी चाहिए. उन्होंने प्रवासी भारतीयों से कहा कि आपके सपने हमारे सपने हैं और 21वीं सदी भारत की सदी है.

उन्होंने यह भी कहा कि आज ही के दिन महात्मा गांधी अफ्रीका से वापस भारत आए थे. यह एक ऐसा पर्व है जब कोई देश-विदेश में रहने वाले अपनी संतानों से मिलते हैं. विदेशों में रहने वाले भारतीयों का सम्मान इसलिए होता है क्योंकि वे वहां के लिए अपना योगदान देते हैं. 

प्रवासी भारतीयों की मेहनत, अनुशासन और शांतिप्रियता दूसरे प्रवासियों के लिए मिसाल की तरह है. पीएम मोदी ने बताया कि मैंने अपने विदेश दौरों पर प्रवासी भारतीयों से बात की. उनके बीच भारत के सामाजिक और आर्थिक बदलाव में अपना योगदान देने की ललक है.

पीएम मोदी ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के काम और सक्रियता की भी तारीफ की. उन्होंने यमन में फंसे भारतीयों को सुरक्षित वापस लाए जाने के लिए भारतीय सेना के ऑपरेशन की भी तारीफ की. 

प्रधानमंत्री ने बताया कि पर्सन ऑफ इंडियन ऑरिजिन कार्ड को ओवरसीज सिटिजन ऑफ इंडिया कार्ड में बदलने की आखिरी तारीख 31 दिसंबर 2016 से बढ़ाकर 30 जून 2017 कर दी गई है. इस अवधि में कोई पेनाल्टी नहीं ली जाएगी. पीएम मोदी ने बताया कि सरकार जल्द ही एक प्रवासी कौशल विकास योजना लॉन्च करेगी. यह ऐसे भारतीयों के लिए है जो विदेशों में रोजगार के मौके तलाशते हैं.

First published: 8 January 2017, 17:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी