Home » इंडिया » PM Modi: Pakistan destroy self with fight to us
 

पीएम मोदी: हमसे लड़कर खुद को तबाह कर लेगा पाकिस्तान, नहीं देंगे सिंधु का पानी

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:46 IST
(पीएमओ ट्विटर)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज पंजाब के बठिंडा में आयोजित एक रैली में कहा कि भारत से लड़कर पाकिस्तान खुद को तबाह कर रहा है.

पीएम मोदी ने पाकिस्तान पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि हमारी सशस्त्र सेनाओं ने पाकिस्तान को अपनी ताकत का अहसास करा दिया है. उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से पाकिस्तान बेहद डरा हुआ है. 

'गरीबी, काले धन से लड़े पाक'

पीएम मोदी ने कहा कि मैं पाकिस्तान के नागरिकों से अपील करता हूं कि वह अपने शासकों से गरीबी, काले धन और जाली मुद्रा के खिलाफ लड़ने को कहें, भारत के खिलाफ नहीं.

पीएम मोदी ने साथ ही कहा, "पंजाब और अन्य राज्यों के किसानों को उनके देय पानी की एक-एक बूंद दिलाने के लिए हमने सिंधु जल समझौते पर एक कार्य बल गठित किया है."

'नोटबंदी के समर्थन पर आभारी'

इसके साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने नोटबंदी के मुद्दे पर कहा, "मुझे काले धन और भ्रष्टाचार के कारण पीड़ित हो रहे गरीब और मध्य वर्ग के शोषण को रोकना ही था. मैं मुश्किलों का सामना करने के बावजूद नोटबंदी का समर्थन कर रहे लोगों का आभारी हूं. भ्रष्टाचार और काला धन देश को दीमक की तरह चाट रहा है."

पीएम मोदी ने कहा कि कालेधन ने इस देश के गरीब और मध्यवर्ग को जमकर लूटा है. हमारे देश में एडमिशन, जमीन खरीददारी और अस्पतालों में भी काला धन धड़ल्ले से चल रहा था. मुझे अमीरों के हाथों गरीबों और मध्यम वर्ग का शोषण बंद करना है.

पीएम ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि देश में बढ़ रहे प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए वो अपने खेतों की कटाई के बाद बची खूंटी न जलाएं और उनसे वो खाद बनाने का काम करें.

बठिंडा में एम्स का शिलान्यास

पीएम मोदी ने इससे पहले बठिंडा जिले में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) की आधारशिला रखी. करीब 200 एकड़ इलाके में फैले 750 बिस्तर वाले अस्पताल और संस्थान के निर्माण पर 925 करोड़ रुपये खर्च होंगे.

एम्स के बनने से पंजाब के बठिंडा, मनसा और संगरूर जिले में लोगों को फायदा होगा, जहां कैंसर और दूसरी बीमारियों के मरीजों की तादाद में इजाफा हुआ है.

बठिंडा केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर का लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र है. दो साल में यहां एम्स का निर्माण हो जाएगा. वहीं इससे सीमावर्ती राज्य हरियाणा और राजस्थान की जरूरतें भी पूरी होंगी.

First published: 25 November 2016, 2:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी