Home » इंडिया » PM Modi received Abu Dhabi prince at airport, Prince will be chief guest for republic day parade
 

पहली बार इस वजह से अलग होगी रिपब्लिक डे परेड

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:45 IST
(एएनआई)

देश के इतिहास में पहली बार 68वें गणतंत्र दिवस पर संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की सेना राजपथ पर परेड करेगी. अबू धाबी के राजकुमार शेख मोहम्मद बिन जाएद अल नाह्यां बतौर गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि के रूप में मंगलवार को दिल्ली पहुंच गए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उन्हें लेने स्वयं एयरपोर्ट पर पहुंचे. शेख मोहम्मद यूएई आर्म्ड फोर्सेज के डिप्टी सुप्रीम कमांडर भी हैं और उन्होंने आतंकवाद के खिलाफ भारत की लड़ाई का समर्थन किया है.

पिछले साल फ्रांस के बाद यह दूसरा मौका है, जब कोई विदेशी सेना राजपथ की परेड में हिस्सा ले रही है. सोमवार को फुल ड्रेस रिहर्सल में यूएई की टुकड़ी शामिल रही. परेड में इस बार 23 झांकियां नजर आएंगी.

राजकुमार शेख मोहम्मद तीन दिन के दौरे पर भारत आए हैं. उनके सम्मान में पहले राष्ट्रपति भवन में भोज आयोजित किया जाएगा फिर वे महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने राजघाट जाएंगे. वे 25 जनवरी को भारतीय प्रधानमंत्री के साथ हैदराबाद हाउस में एक बैठक में शामिल होंगे.

इस दौरान दोनों देशों के बीच 16 समझौतों पर हस्ताक्षर भी किए जाएंगे. इसी दिन वे राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी से भी मुलाकात करेंगे. गणतंत्र दिवस कार्यक्रम के बाद प्रिंस वापस लौट जाएंगे.

2014 में मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद तीन देशों के राष्ट्राध्यक्ष गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि बन चुके हैं. 2015 में अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा, 2016 में फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद चीफ गेस्ट थे.

गणतंत्र दिवस समारोह में भारत हर साल दुनिया के किसी देश की बड़ी हस्ती को मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित करता रहा है. 1962 के भारत-चीन युद्ध से चार साल पहले चीन के मार्शल ये जियानयिंग भी गणतंत्र दिवस परेड में भारत के गेस्ट रह चुके हैं. 

इसी तरह 1965 में पाकिस्तान के साथ लड़ाई से कुछ साल पहले पाकिस्तान के खाद्य और कृषि मंत्री राणा अयूब खान भी गणतंत्र दिवस समारोह में अतिथि के तौर पर शामिल हुए थे.

First published: 24 January 2017, 8:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी