Home » इंडिया » PM Modi refuses sofa, opts for chair at photo session in Vladivostok, Russia
 

Video: PM मोदी के लिए लगाया गया था सोफा, इसके बाद उन्होंने जो किया देख सीना गर्व से हो जाएगा चौड़ा

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 September 2019, 10:10 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने दो दिवसीय दौरे पर रूस में हैं. इस दौरान पीएम मोदी ने एक अनोखी मिसाल पेश की जिसे देखकर आपका सीना भी गर्व से चौड़ा हो जाएगा. न्यूज एजेंसी एएनआई ने इस घटना का वीडियो जारी किया है. वीडियो तब का है जब रूस में प्रधानमंत्री मोदी के साथ कई लोगों का फोटो सेशन होना था.

वीडियो में दिख रहा है कि फोटो सेशन के दौरान पीएम मोदी के लिए सोफा लगा था जबकि अन्य लोगों के लिए कुर्सियां लगाई गई थीं. पीएम मोदी ने ऐसा देख सोफे पर बैठने से मना कर दिया. उन्होंने सबके साथ कुर्सी पर बैठने की बात कही. पीएम मोदी ने तुरंत अधिकारियों से सोफा हटाने के लिए कहा. 

इसके बाद अधिकारियों ने सोफा खिसकाकर हटा दिया और बाकी लोगों की तरग उनके लिए भी कुर्सी लगाई गई. इसके बाद पीएम मोदी भी बाकी लोगों के साथ सामान्य कुर्सी पर बैठे और फोटो सेशन हुआ. पीएम मोदी के इस बड़प्पन का वीडियो इसके बाद सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गया. लोग पीएम मोदी के इस कदम की सराहना कर रहे हैं. 

केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी इस घटना का वीडियो अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है. पीयूष गोयल ने इसके साथ लिखा है, "प्रधानमंत्री जी की सरलता का उदाहरण आज पुनः देखने को मिला, उन्होंने रूस में अपने लिए की गई विशेष व्यवस्था को हटवा कर अन्य लोगों के साथ सामान्य कुर्सी पर बैठने की इच्छा जाहिर की."

सोशल मीडिया यूजर्स कह रहे हैं कि पीएम मोदी की इस पहल के लिए कोई शब्द नहीं हैं. एक यूजर ने लिखा, "पीएम मोदी की सादगी ही उन्‍हें विश्व बिरादरी में सबसे सम्मानित और शक्तिशाली नेता बनाती है. जिस दृढ़ विश्वास, स्पष्टता के साथ वह पेश आते हैं, उन्हें पता है कि राष्‍ट्र के लिए सबसे अच्छा क्‍या है. अच्‍छे और भले लोगों के लिए वह नरम दिल इंसान हैं लेकिन जो लोग भारत को नुकसान पहुंचाने की मंशा रखते हैं, उनके लिए वह बहुत कठोर हैं. नरेंद्र मोदी सही मायने में हमारे पीएम हैं." 

गौरतलब है कि पीएम मोदी रुस के व्लादिवोस्तोक में ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम में शामिल हुए हैं. उन्होंने मुख्य अतिथि के रूप में ईस्टर्न इकोनोमिक फोरम को संबोधित किया और कहा कि भारत रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के सुदूर पूर्व क्षेत्र को विकसित करने के विजन को सुनिश्चित करने में भागीदार बनेगा. दोनों पक्षों के बीच पहले ही 50 समझौते हो चुके हैं. इन समझौतों के तहत अरबों डॉलर का निवेश होगा. पीएम मोदी ने कहा कि यह नया आयाम हमारी आर्थिक कूटनीति में मदद करेगा. 

पाकिस्तान की ओछी हरकत, LoC पर तैनात की एक और ब्रिगेड, 2000 सैनिकों की बढ़ाई हलचल

कश्मीर में लश्कर ने लगाए खौफनाक पोस्टर्स, लिखा- मोदी सरकार का अंजाम अच्छा नहीं होगा

First published: 6 September 2019, 10:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी