Home » इंडिया » PM Modi's secretary Bhaskar Khulbe earn more than him
 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तनख्वाह उनके सचिव भास्कर खुल्बे से भी कम है

शौर्ज्य भौमिक | Updated on: 11 August 2016, 14:35 IST
4.80
लाख

रुपये

इस सप्ताह प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) द्वारा सूचना का अधिकार अधिनियम (आरटीआई) के अंतर्गत सभी वरिष्ठ अधिकारियों की तनख्वाह की घोषणा की गई. 2012 में मनमोहन सिंह ने भी पीएमओ में अधिकारियों की तनख्वाह की जानकारी दी थी.

दुनिया के पांच अरबपति कॉलेज ड्रॉपआउट

आरटीआई द्वारा प्राप्त जानकारी के मुताबिक पीएमओ में प्रधानमंत्री के सचिव भास्कर खुल्बे की तनख्वाह सर्वाधिक है. जानिए इससे जुड़ी कुछ अन्य जानकारियांः

19.20
लाख

रुपये

  • है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सालाना सैलरी.
  • इसका मतलब करीब 1 लाख 60 हजार रुपये प्रतिमाह.
  • विश्व स्तर पर देखें तो मोदी की तनख्वाह 12वें पायदान पर आती है. सलाना कमाई के मामले में रूसी प्रधानमंत्री दिमित्री मेदवेदेव की तनख्वाह सर्वाधिक (19 करोड़ 20 लाख रुपये) है. जबकि इसके बाद अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और जर्मनी की चांसलर एंजेला मार्केल की प्रतिवर्ष कमाई 2 करोड़ 30 लाख रुपये है.

2
लाख

रुपये

  • है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सचिव भाष्कर खुल्बे की प्रतिमाह तनख्वाह.
  • 1983 बैच के आईएएस अधिकारी खुल्बे को हाल ही में प्रधानमंत्री के अतिरिक्त सचिव से प्रोन्नत करके सचिव बनाया गया है.
  • पीएमओ में अन्य अधिकारियों की तनख्वाह कुछ इस प्रकार हैः प्रमुख सचिव नृपेंद्र मिश्रा को 1.62 लाख रुपये के साथ पेंशन (राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहाकार अजीत डोभाल और अतिरिक्त प्रमुख सचिव पीके मिश्रा की तरह) भी मिलती है. सभी संयुक्त सचिव (तरुण बजाज, अनुराग जैन, एके शर्मा को 1.70 रुपये प्रतिमाह) मिलते हैं.
  • इसके बाद सूचना अधिकारी शरत चंदर (1.20 लाख), प्रधानमंत्री के ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी (1.10 लाख रुपये) और जनसंपर्क अधिकारी जेएम ठक्कर हैं जिन्हें 99,434 रुपये मिलते हैं.

20
करोड़

रुपये

  • औसत सैलरी है 2016 में भारत की टॉप लिस्टेड कंपनियों के सीईओ की सालाना तनख्वाह.
  • दो साल पहले यह रकम 10 करोड़ रुपये थी.
  • 2015-16 में सर्वाधिक तनख्वाह पाने वाले सीईओ लार्सन एंड टूब्रो के एएम नाइक (66 करोड़ रुपये सालाना) थे. इसके बाद इंफोसिस के विशाल सिक्का (48 करोड़ रुपये) और ल्यूपिन के देशबंधु गुप्ता (44 करोड़ रुपये) थे.
  • बैंकिंग सेक्टर में एचडीएफसी के आदित्य पुरी को 9 करोड़ रुपये, आईसीआईसीआई की चंदा कोचर को 6 करोड़ जबकि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की सीईओ अरुंधति भट्टाचार्य को 31 लाख रुपये मिलते हैं.
  • हालांकि अमेरिका की टॉप लिस्टेड कंपनियों के सीईओ की औसत कमाई 130 करोड़ रुपये की तुलना में भारतीय सीईओ की तनख्वाह छठा हिस्सा हैं.

First published: 11 August 2016, 14:35 IST
 
शौर्ज्य भौमिक @sourjyabhowmick

संवाददाता, कैच न्यूज़, डेटा माइनिंग से प्यार. हिन्दुस्तान टाइम्स और इंडियास्पेंड में काम कर चुके हैं.

पिछली कहानी
अगली कहानी