Home » इंडिया » PM Modi says no one is above the rules head of the village or prime minister
 

PM मोदी ने दिखाई सख्ती, कहा- गांव का प्रधान हो या प्रधानमंत्री कोई भी नियमों से ऊपर नहीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 June 2020, 18:10 IST

PM Modi Address: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज शाम 4 बजे देश के नाम संबोधन किया. इस दौरान उन्होंने देश के लोगों से कोरोना वायरस से सतर्क रहने के लिए कहा. पीएम मोदी ने कहा कि अनलॉक के बाद से देखा जा रहा है कि लोगों में लापरवाही बढ़ गई है. उन्होंने कहा कि यह सख्ती दिखाने का वक्त है और गांव का प्रधान हो या प्रधानमंत्री नियम सबके लिए बराबर हैं.

पीएम मोदी ने फेस मास्क से जुड़े नियमों पर खासा जोर दिया. उन्होंने कहा कि सार्वजनिक जगहों पर फेस मास्क पहनना जरूरी है. अ नलॉक-1 के बाद कोरोना महामारी के दौरान लागू किए गए दिशा-निर्देशों का लोग उल्लंघन करते दिखाई दे रहे हैं. सार्वजनिक जगहों पर लोगों को फेस मास्क पहनने के लिए रोकना, टोकना और समझाना बहुत जरूरी है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि लोगों के सार्वजनिक और व्यक्तिगत जीवन में अनलॉक के बाद लापरवाही आ गई है. लॉकडाउन के दौरान हम लगातार हाथ धुलते थे और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करते थे. इसके अलावा मास्क पहनते थे और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते थे. इस दौरान हम हाथ भी नहीं मिलाते थे.

PM मोदी का बड़ा ऐलान- देश के 80 करोड़ लोगों को नवंबर तक मिलेगा मुफ्त अनाज

अब लोग इतनी सख्ती से नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि यह चिंता का विषय है. हमें अनुशासन को बनाए रखना होगा. उन्होंने कहा कि वह भगवान से प्रार्थना करते हैं कि देश के सभी लोग स्वस्थ रहिए. नियमों का पालन करें, दो गज की दूरी का बनाए रखें. गमछा लगाएं, फेस कवर करें, कोई लापरवाही न बरतें

प्रधानमंत्री ने बारिश के मौसम का हवाला देते हुए कहा कि इस मौसम में लोगों को अपना विशेष ख्याल रखने की जरूरत है. इसी मौसम में खांसी-बुखार जैसी चीजें होती हैं, कोरोना वायरस का भी यही लक्षण है. बता दें कि भारत में पिछले कुछ दिनों में तेजी से कोरोना वायरस के मामले बढ़े हैं. 30 जून तक देश में कुल 5.66 लाख कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. देश में 17,000 से अधिक लोग इस बीमारी की चपेट में आकर जान गंवा चुके हैं.

 

First published: 30 June 2020, 18:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी