Home » इंडिया » PM Modi will attend G 7 Summit in Biarritz in France
 

G-7 का सदस्य न होने के बाद भी भारत को इस बड़े मंच से मिला बुलावा, PM मोदी होंगे शामिल

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 August 2019, 9:35 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को G-7 शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे. G-7 में भाग लेने के लिए पीएम मोदी रविवार को ही फ्रांस पहुंच गए. सोमवार को यह जी-7 देशों का सम्मेलन फ्रांस के ब्रिट्ज शहर में होगा. यहां पीएम मोदी दुनिका के कई देशों के नेताओं से भी मुलाकात करेंगे. वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से भी पीएम मोदी की मुलाकात होगी. जहां दोनों नेताओं के बीच कश्मीर मुद्दे को लेकर चर्चा होगी.

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री तीन देशों की यात्रा पर हैं. पीएम मोदी संयुक्त अरब अमीरात और बहरीन की यात्रा करने के बाद रविवार को फ्रांस पहुंचे हैं. आपको जानकर हैरानी होगी की भारत जी-7 देशों में शामिल नहीं है, बावजूद इसके भारत को इस सम्मेलन में भाग लेने के लिए खास तौर से न्यौता मिला है. जिसकी सबसे बड़ी दुनियाभर में बढ़ती भारत की लोकप्रियता है.

बता दें कि आमतौर पर G-7 सम्मेलन में वहीं देश शामिल होते हैं जो इसके सदस्य होते हैं, लेकिन इस बार सदस्य देशों के अलावा उन देशों को बुलावा भेजा गया है जो राजनीति में मजबूत स्थान रखते हैं. इस सूची में भारत नंबर एक पर आता है. इस शिखर सम्मेलन में भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका और स्पेन को भी निमंत्रण भेजा गया है.

इसके अलावा अफ्रीकी देशों में रवांडा और सेनेगल को भी इस शिखर सम्मेलन में शिरकत करने के लिए बुलाया गया है. विदेश मंत्रालय की तरफ से भारत को G-7 की बैठक में शामिल होने के लिए मिलने वाले आमंत्रण पर कहा गया है कि जG-7 में भारत को न्यौता बड़ी आर्थिक शक्ति और फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों के साथ निजी संबंध का सबूत है. इस सम्मेलन में प्रधानमंत्री मोदी जलवायु, वातावरण समुद्री सुरक्षा और डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन पर सेशन को संबोधित करेंगे.

वर्तमान वैश्विक परिदृश्य में अर्थव्यवस्था के दृष्टिकोष से भारत का स्थान काफी अहम है. इसके चलते भी भारत को जी-7 समिट में शामिल होने का न्योता मिला है. वहीं भारत के फ्रांस के साथ बेहतर संबंध भी अहम भूमिका निभा रहे हैं. इस सम्मेलन के दौरान पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के बीच होने वाली मुलाकात को भी बहुत अहम माना जा रहा है. क्योंकि इस दौरान दोनों नेता कश्मीर मुद्दे पर चर्चा करेंगे और इसका क्या परिणाम निकलेगा.

बता दें कि G-7 देशों में अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, कनाडा, जापान, ब्रिटेन और इटली शामिल हैं. जो दुनिया के सात विकसित देशों का एलीट क्लब है. ये क्लब ही विश्व की अर्थव्यवस्था की दिशा तय करती है. इन देशों का दुनिया की 40 प्रतिशत जीडीपी पर कब्जा है.

G-7 का सदस्य न होने के बाद भी भारत को इस बड़े मंच से मिला बुलावा, PM मोदी होंगे शामिल

First published: 26 August 2019, 9:35 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी