Home » इंडिया » PM Modi won't accept BHU doctorate degree, will reach Varanasi tonight
 

प्रधानमंत्री ने ठुकराई बीएचयू की मानद उपाधि, आज पहुंचेंगे वाराणसी

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:51 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशी हिंदू विश्वविद्यालय द्वारा दी जाने वाली मानद उपाधि लेने से इनकार कर दिया है. रविवार रात को मोदी वाराणसी पहुंचेंगे. इसके लिए शनिवार देर रात को प्रधानमंत्री का संशोधित कार्यक्रम जिला प्रशासन को मिला. मोदी डीरेक स्थित ऑफिसर्स गेस्ट हाउस में रात्रि विश्राम करने के बाद सोमवार सुबह हेलीकॉप्टर से काशी हिंदू विश्वविद्यालय पहुंचेंगे.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री अपने संसदीय क्षेत्र में 15 घंटों का वक्त बिताएंगे. मोदी रविवार रात 10 बजकर 10 मिनट पर कोलकाता सेे बाबतपुर पहुंचेंगे. इसके बाद सोमवार को 1 बजकर 20 मिटर पर यहां से विमान में बैठकर दिल्ली के लिए निकल जाएंगे.

प्रशासन के मुताबिक मोदी बाबतपुर एयरपोर्ट से सड़क मार्ग से डीरेका जाएंगे. जहां रात्रि विश्राम के बाद वे सोमवार सुबह 9 बजकर 55 मिनट पर हेलीकॉप्टर से बीएचयू हेलीपैड चले जाएंगे.

modi-abe-in-varanasi AFP prakash singh.jpg

फाइल फोटो

इसके बाद वे बीएचयू हेलीपैड से सड़क मार्ग के जरिये सीर गोवर्धन स्थित संत रविदास मंदिर में पूजा-अर्चना करेंगे. यहां से वे बीएचयू के शताब्दी दीक्षांत समारोह में शामिल होने एंफीथिएटर मैदान पहुंचेंगे. वेेे यहां पर 11 बजे से दोपहर 12 बजकर 40 मिनट तक रहेंगे. 

बीएचयू हेलीपैड से दोपहर 12 बजकर 55 मिनट पर मोदी बाबतपुर एयरपोर्ट के लिए निकल जाएंगे जहां से 1 बजकर 20 मिनट पर वो दिल्ली के लिए उड़ान भरेंगे. 

इस बीच प्रधानमंत्री मोदी के आगमन की खबर के बाद स्थानीय भाजपा नेताओं ने अस्सी घाट, दशाश्वमेध घाट और काशी विश्वनाथ मंदिर का दौरा कर वहां सुरक्षा और सफाई की जांच की.

नहीं लेंगे डॉक्टरेट की डिग्री

ताजा खबरों के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बीएचयू द्वारा दी जा रही डॉक्टरेट की डिग्री नहीं लेंगे. हालांकि प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा इस बारे में कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. लेकिन सूत्र बताते हैं कि मोदी ने ऐसी डिग्रियों को न लेने के लिए पहले से ही कह रखा है.

इस बाबत बीएचयू के प्रवक्ता राजेश सिंह ने बताया कि "11 फरवरी को हुई एक उच्च स्तरीय बैठक में विश्वविद्यालय ने तय किया था कि इस बार दीक्षांत समारोह में प्रधानमंत्री को शासन और लोक सेवा में अन्वेषक, सुधारक और बेहतरीन नेता के रूप में उत्कृष्ट कार्य के लिए डॉक्टरेट से नवाजा जाएगा. बीएचयू ने इस बाबत पीएम की राय जानने के लिए उनसे निवेदन किया था लेकिन उन्होंने इसे लेने से मना कर दिया."

वहीं, बीएचयू के कुलपति के मुताबिक उन्हें लगता है प्रधानमंत्री डिग्री लेने से इसलिए मना कर रहे हैं क्योंकि उन्होंने संबंधित कोर्स की पढ़ाई नहीं की है. 

मालूम हो कि पीएम की अमेरिकी यात्रा से पहले लुइसियाना स्थित एक विश्वविद्यालय ने भी उन्हें डॉक्टरेट डिग्री देने का प्रस्ताव रखा था लेकिन मोदी से डिग्री लेने से मना कर दिया था. जबकि गुजरात में भी कई विश्वविद्यालयों के ऐसे प्रस्ताव पीएम नकार चुके हैं.

First published: 21 February 2016, 4:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी