Home » इंडिया » PM Narendra Modi and Russian President Vladimir Putin contract S-400 Missile System
 

अमेरिका तरेरता रह गया आंख, भारत ने बिना डरे रूस के साथ कर लिया S-400 मिसाइल सौदा

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 October 2018, 17:13 IST

भारत ने रूस के साथ एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम का समझौता कर लिया है. इस समझौते को लेकर अमेरिका भारत को आंख दिखा चुका है. अमेरिका ने चेतावनी दी थी कि रूस से हथियारों की डील करने वालों पर वह प्रतिबंध लगा देगा.

इसके साथ ही रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच शुक्रवार को बातचीत के बाद 8 समझौतों पर हस्ताक्षर हुए. नई दिल्ली में साझा प्रेस वार्ता में पीएम मोदी और रूसी राष्ट्रपति ने रक्षा और सुरक्षा के क्षेत्र में साथ मिलकर काम करने का ऐलान किया. 

 

बता दें कि इस डील के तहत भारत अब रूस से मिसाइल डिफेंस सिस्टम के 5 सेट खरीदेगा. द्विपक्षीय वार्ता के बाद नई दिल्ली में इस डील पर हस्ताक्षर हुए. दोनों नेताओं के बीच शुक्रवार को हैदराबाद हाउस में डेलिगेशन लेवल की बातचीत हुई थी.

पढ़ें- S-400 मिसाइल डील पर लगी मुहर, 400KM दूर से ही दुश्मन की मिसाइल होगी ध्वस्त

इस डील के अनुसार, दो मिसाइलें एस-400 और थाड दोनों ही एयर डिफेंस मिसाइल हैं, लेकिन इन दोनों की क्षमताओं में बहुत अंतर है. एक तरफ जहां S-400, 300 किलोमीटर की रेंज तक प्रहार कर सकता है और ये 'फायर एंड फॉरगेट' की नीति के तहत काम करता है. वहीं थाड सिंगल लेयर डिफेंस प्रणाली के अंतर्गत काम करता है.

भारत के पास अब S-400 की मारक क्षमता होगी. इसके साथ भारत अब 400 किमी के दायरे में किसी भी मिसाइल को नष्ट कर सकेगा. S-400, 4800 मीटर प्रति सेकेंड वाले टारगेट को आसानी से तबाह कर सकता है. इतना ही नहीं ये आधुनिक मिसाइल S-400 ट्रंफ मिसाइल एक साथ 100 किमी तक हवाई खतरों को भांप सकता है. S-400 लगभग 400 किमी के दायरे में किसी भी विमान, मिसाइल और ड्रोन को तबाह कर सकता है.

First published: 5 October 2018, 16:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी