Home » इंडिया » pm narendra modi full speech from the red fort on 71th independence day on 15 August on Tuesday.
 

जानिए पीएम मोदी के लाल किले से दिए भाषण की ख़ास बातें

हेमराज सिंह चौहान | Updated on: 15 August 2017, 13:08 IST
(pm modi twitter account)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 71वें स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में लाल किले की प्राचीर से राष्ट्र के नाम अपना चौथा संबोधन दिया. इससे पहले पीएम मोदी ने मंगलवार को चौथी बार लाल किले से तिरंगा फहराया. लाल किले से देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कृष्ण जन्माष्टमी की लोगों को बधाई दी.

पीएम मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत कृष्ण जन्माष्टमी को याद करने के साथ की. मोदी ने कहा आज पूरा देश आजादी के पर्व के साथ जन्माष्टमी का पर्व भी मना रहा है. मेरे सामने बाल कन्हैया भी बैठे हैं. सुदर्शन चक्र धारी मोहन से लेकर चरखाधारी मोहन तक हमारी सांस्कृतिक ऐतिहासिक विरासत के हम सभी धनी हैं.

पीएम मोदी की भाषण की ख़ास बातें.

गोरखपुर पर तोड़ी चुप्पी

जैसी लोगों को अपेक्षा थी वही हुआ. पीएम मोदी ने पिछले गुरुवार को गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में हुई बच्चों की मौत पर चुप्पी तोड़ी. उन्होंने इसे प्राकृतिक आपदा करार दिया. उन्होंने इस घटन पर शोक जताते हुए कहा कि विपत्ति की इस घड़ी में हम कंधे से कंधा मिलाकर उनके साथ खड़े हैं.

न्‍यू इंडिया का संकल्प

पीएम मोदी ने कहा कि, पिछले सप्ताह ही भारत छोड़ो आंदोलन के 75 साल पूरे किए हैं, ये साल साबरमती आश्रम की शताब्दी का वर्ष है, ये लोकमान्य तिलक के जज्बे का 125 वां वर्ष है. हम इस साल आजादी का 70वां वर्ष मना रहे हैं और 2022 में आजादी के 75 साल. मोदी ने कहा कि हमारी सामूहिक प्रतिबद्धता से ही 2022 में भारत का सपना न्यू इंडिया पूरा हो पाएगा.

तीन तलाक

पीएम मोदी ने लाल किले की प्राचीर से तीन तलाक का मुद्दा भी उठाया. उन्होंने कहा कि तीन तलाक से पीड़ित बहनों ने देश में आंदोलन खड़ा किया, मीडिया ने उनकी मदद की. तीन तलाक के खिलाफ आंदोलन चलाने वाली बहनों का मैं अभिनंदन करता हूं, पूरा देश उनकी मदद करेगा.

नोटबंदी

पीएम मोदी ने कहा कि हमने सरकार बनाने के बाद काला धन के मुद्दे पर एसआईटी का गठन किया. तीन साल के भीतर सवा लाख करोड़ से ज्‍यादा काला धन देश में आया है. नोटबंदी के बाद से छिपे हुए कालेधन को मुख्‍यधारा में आना पड़ा. नोटबंदी के बाद 3 लाख करोड़ से ज्‍यादा रुपये बैंकों में आए. नोटबंदी के बाद हमने पौने दो लाख कंपनियों को बंद किया है.

कश्मीर 

पीएम मोदी ने कहा कि, जम्मू-कश्मीर का विकास, उन्नति और उनके सपनों को पूरा करना हमारा संकल्प है, फिर से इसे स्वर्ग बनाना है. कश्मीर के अंदर जो कुछ भी होता है, बयानबाजी भी होती है, लोग एक दूसरे को गाली भी देते हैं. कश्मीर में जो कुछ भी घटनाएं घटती हैं, मुठ्ठी भर अलगाववादी लड़ते हैं. लेकिन ये समस्या ना गाली से सुलझेगी ना ही गोली से सुलझेगी ये समस्या सुलझेगी तो सिर्फ हर कश्मीरी को गले लगाने से ही सुलझेगी.

सर्जिकल स्ट्राइक  

मोदी ने कहा जब सीमा पार सर्जिकल स्‍ट्राइक किया गया तो पूरी दुनिया ने सरकार का लोहा माना. उन्होंने कहा कि आतंकवाद हो या घुसपैठ हो हर जगह सुरक्षाकर्मियों और एजेंसियों ने अपना काम किया.

 जीएसटी
पीएम मोदी ने कहा कि एक जुलाई से देश में जीएसटी लागू किया गया. इससे ट्रक वालों का 30 फीसदी समय बच गया है. व्‍यापार में भी लाभ हुआ है.

बेनामी संपत्ति पर रोक 

मोदी ने कहा कि हमने कम समय में बेनामी संपत्ति पर कार्रवाई की, अभी तक 800 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है.

किसानों का मुद्दा
मोदी ने कहा कि, हमारे किसान आज रिकॉर्ड फसल उत्‍पादन करके दे रहे हैं. फसल बीमा योजना से सवा करोड़ किसान जुड़े हैं. किसानों के लिए हमनें 21 योजनाएं लागू कीं. जल्‍दी ही बाकी योजनाएं लागू की जाएंगी. हम 2022 तक ऐसा हिंदुस्‍तान बनाएंगे जहां किसान चिंता में नहीं चैन से सोएगा.

राज्य और केंद्र एक साथ

पीएम मोदी ने कहा कि, एक समय था पहले राज्य और केंद्र के बीच में यूरिया, केरोसिन के लिए तनाव होता था. ऐसा लगता था कि केंद्र बड़ा भाई है, राज्य छोटा भाई है. मैं मुख्यमंत्री रहा हूं राज्यों की समस्या और राज्य के महत्व को जानता हूं. अब सारे निर्णय मिलकर हो रहे हैं. हम कॉपरेटिव कैपिटिलिज्म से अब कंपेटेटिव कॉपरेटिव कैपिटिलिज्म की ओर आगे बढ़ रहे हैं. 

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने मंगलवार को देश के स्वतंत्रता दिवस समारोह के अवसर पर लाल किले की प्राचीर से चार साल में अब तक का सबसे छोटा भाषण दिया. मोदी ने इस बार सिर्फ 54 मिनट का भाषण दिया, जो 2014 में उनके प्रधानमंत्री बनने के बाद से लेकर अब तक उनका सबसे छोटा भाषण है. उन्होंने 2014 में 65 मिनट, 2015 में 86 मिनट और 2016 में 94 मिनट का भाषण दिया था.

First published: 15 August 2017, 13:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी