Home » इंडिया » PM Narendra Modi meeting with secretaries and set 100 days agenda farmers economy
 

पीएम मोदी ने सचिवों के साथ बैठक कर तय किया पहले 100 दिन का एजेंडा

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 June 2019, 8:12 IST

पीएम मोदी अपने दूसरे कार्यकाल में देश की अर्थव्यवस्था को नए आयाम देने और नए रोजगार के स्रजन के लिए तैयारियों में जुटे हैं. मंगलवार को अपने दूसरे कार्यकाल के पहले बजट से पहले पीएम मोदी ने वित्त और अन्य मंत्रालयों के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठकर पहले सौ दिन के एजेंडे को अंतिम रूप देने की कोशिश की.

सूत्रों के मुताबिक, प्रधानमंत्री आवास पर हुई बैठक में वित्त मंत्रालय के सभी पांच सचिवों के अलावा कुछ अन्य मंत्रालयों के अधिकारी भी मौजूद रहे. साथ ही नीति आयोग के शीर्ष अधिकारियों ने भी इस बैठक में भाग लिया. ऐसा माना जा रहा है कि पीएम मोदी के साथ इस उच्च स्तरीय बैठक में देश को कम से कम समय में पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लक्ष्य को ध्यान में रखकर सरकार के पांच साल में किए जाने वाले कार्यों को लेकर स्पष्ट रणनीति बनाई.

ऐसा माना जा रहा है कि इस बैठक में पीएम मोदी ने किसानों का आय दोगुना करने, पीएम किसान सम्मान निधि, पीएम आवास योजना, सबको पेयजल, सबको बिजली सहित पीएम मोदी की सभी महत्वाकांक्षी परियोजनाओं के भविष्य को लेकर चर्चा की गई. बता दें कि पीएम मोदी ने पिछले हफ्ते ही कृषि क्षेत्र की समस्याओं को देखते हुए, कृषि क्षेत्र में ढांचागत सुधार किए जाने, निजी निवेश बढ़ाए जाने, किसानों को बाजार समर्थन उपलब्ध कराने और लॉजिस्टिक व्यवस्था को दुरुस्त करने पर जोर देने की बात कही थी.

बता दें कि वित्त वर्ष 2018-19 में जीडीपी की वृद्धि दर घटकर 6.8 प्रतिशत पर आ गई है जो पिछले पांच साल में सबसे निचले स्तर पर है. आंकड़ों के अनुसार मुद्रास्फीति भारतीय रिजर्व बैंक के संतोषजनक स्तर के दायरे में है, लेकिन जनवरी से मार्च की तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर 5.8 प्रतिशत के पांच साल के निचले स्तर पर आ गई. इससे वृद्धि दर के मामले में भारत अब चीन से पिछड़ गया है.

मोदी सरकार का बड़ा एक्शन, वित्त मंत्रालय के 15 भ्रष्ट अधिकारियों को जबरन दिया रिटायरमेंट

First published: 19 June 2019, 8:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी