Home » इंडिया » PM Narendra Modi new aircraft, specialties of Air India One, there will be no effect of missile attack
 

PM मोदी का नया विमान, Air India One की खासियत जान रह जाएंगे दंग, मिसाइल हमले का नहीं होगा असर

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 June 2020, 17:49 IST

New Aircraft for PM Modi: भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था अब और भी मजबूत होने जा रही है. जल्द ही भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की तरह एयर फोर्स वन विमान जैसा सुरक्षित और आधुनिक तकनीक से लैस विमान मिलने जा रहा है. इस विमान का नाम एयर इंडिया वन है.

भारत ने साल 2018 में बोईंग कंपनी से दो बोईंग-777 विमान खरीदा था. इसके बाद इन्हें देश के VVIP मवूमेंट के लिए सुरक्षा जरूरतों के हिसाब से तैयार करने के लिए अमेरिका भेज दिया गया था. ये दोनों विमान अब एक अभेद्य किले के रूप में बनकर तैयार हो चुके हैं. इस आम से दिखने वाले Air India One विमान की खूबी जानकर आप दांतों तले उंगली दबा लेंगे.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इन दोनों विमानों के इस साल के अगस्त महीने के अंत तक भारत आ जाने की उम्मीद है. इन दो विमानों को तैयार करने के लिए भारत ने अमेरिका से करीब 1300 करोड़ रुपए की डील की थी. आप जानकर हैरान रह जाएंगे कि इस विमान में मिसाइल अटैक का भी कोई असर नहीं होगा.

मिसाइल हमले का भी नहीं होगा असर

विमान में ट्विन GE90-115 इंजन लगा है. इस इंजन की मदद से यह विमान 900 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भर सकता है. इसमें 'सेल्‍फ प्रोटेक्‍शन सूट' (SPS) लगा है. यही विमान को किसी भी मिसाइल हमले अथवा हवा में होने वाली दुर्घटना से बचाता है. इस देसी एयरफोर्स वन खास सेंसर लगाए गए हैं. ये किसी भी मिसाइल हमले से पहले सूचना दे सकते हैं.

जैसे ही विमान के खास सेंसर को सूचना मिलती है, इसके तुरंत बाद इसमें लगा डिफेंसिंव इलेक्‍ट्रानिक वॉरफेयर सिस्‍टम ऐक्टिव हो जाता है. इस सिस्टम में इंफ्रा रेड सिस्‍टम, डिजिटल रेडियो फ्र‍िक्‍वेंसी जैमर जैसी कई आधुनिक तकनीकि की चीजें शामिल हैं. इसके कारण  एयर इंडिया वन दुश्मन के रडार को जाम कर देता है. यह मिसाइल से हमला करने में भी सक्षम है.

अमेरिकी राष्ट्रपति के विमान की तरह है ताकतवर

खास बात यह है कि एयर इंडिया वन में क्वार्टर, लैब, डाइनिंग रूम,  बड़ा ऑफिस और कॉन्फ्रेंस रूम है. मेडिकल इमर्जेन्सी के लिए विमान में मेडिकल सुइट भी उपलब्ध है. बता दें कि भारत से अमेरिका जाने के दौरान इतनी बड़ी दूरी तय करने के लिए भी कहीं भी ईंधन भरने के लिए उतरने की जरूरत नहीं. विमान के सभी सिक्योरिटी फीचर्स अमेरिकी राष्ट्रपति के एयरफोर्स वन विमान के जैसी हैं.

एयर इंडिया ने इन दोनों विमानों को उड़ाने के लिए अपने 40 वरिष्ठ पायलट को चुना है. ये पायलट ही बोइंग 777 विमान को उड़ाएंगे. इन विमानों में अमेरिका के डलास स्टेट स्थित फोर्ट वर्थ में अडवांस्ड सिक्यॉरिटी फीचर्स भी जोड़े जा रहे हैं.

Coronavirus: अब एक दिन में 9000 से ज्यादा COVID-19 मामले, मौत का कुल आंकड़ा 6000 के पार

कोरोना वायरस को लेकर वैज्ञानिकों का बड़ा खुलासा, जनवरी में नहीं इस महीने भारत पहुंचा कोविड-19

First published: 4 June 2020, 17:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी