Home » इंडिया » PM Narendra Modi’s Cabinet reshuffle likely on Thursday
 

गुरुवार को मोदी कैबिनेट में फेरबदल तय, यूपी की बढ़ेगी हिस्सेदारी

पाणिनि आनंद | Updated on: 10 February 2017, 1:49 IST

गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने कैबिनेट में बदलाव और विस्तार करने जा रहे हैं. नए मंत्रियों के शपथ ग्रहण समारोह के लिए राष्ट्रपति भवन में अशोका हॉल को तैयार किया जा रहा है.

सरकार में शामिल जिन मंत्रियों का रिपोर्ट कार्ड बेहतर नहीं रहा है उन पर गाज गिरनी तय है. मोदी सरकार में फेरबदल अगले साल होने जा रहे उत्तरप्रदेश, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, गुजरात और पंजाब विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखकर किया जाएगा.

नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में इस समय मोदी को मिलाकर 27 कैबिनेट मंत्री, 13 स्वतंत्र प्रभार के मंत्री और 25 राज्य मंत्री हैं. असम में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद कैबिनेट मंत्री सर्वानंद सोनवाल की जगह किसी नए मंत्री का आना तय है. वहीं पंजाब प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री विजय सांपला की जगह किसी दूसरे को मंत्री बनाया जाएगा.

पढ़ें: आगामी चुनावों की रोशनी में बदलेगी सरकार और संगठन की सूरत

बीजेपी सूत्रों के अनुसार मंत्रिमंडल के फेरबदल पर उत्तर प्रदेश हावी होने जा रहा है. राज्य से कई चेहरे हैं जो मोदी की टीम का हिस्सा बनने जा रहे हैं. संजीव बालियान, संतोष गंगवार, मनोज सिन्हा और महेश शर्मा जैसे नेताओं को प्रमोशन देकर कैबिनेट मंत्री बनाया जा सकता है.

उत्तर प्रदेश में गैर-यादव वोटों के मद्देनजर बीजेपी की सहयोगी पार्टी अपना दल की सांसद अनुप्रिया पटेल को कैबिनेट में जगह दी जाएगी. अनुप्रिया कुर्मी जाति से आती हैं. पूर्वांचल की कई सीटों पर उनके समुदाय की महत्वपूर्ण उपस्थिति है.

पार्टी के वरिष्ठ नेता विनय सहस्त्रबुद्धे के बारे में भी चर्चा है कि वे नए मंत्रियों की सूची में हो सकते हैं. वे पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हैं. हाल में ही उन्हें राज्यसभा में भेजा गया है. कहा जा रहा है कि अल्पसंख्यक मामलों की मंत्री नजमा हेपतुल्ला को कैबिनेट से बाहर किया जा सकता है और मुख्तार अब्बास नकवी का कद बढ़ाया जाएगा.

पढ़ें: मोदी के मंत्रिमंडल में दिखेगा उत्तर प्रदेश का दबदबा

सरकार में शामिल सूत्रों के अनुसार केन्द्रीय पंचायती राज राज्यमंत्री निहालचंद की विदाई तय है. उनकी जगह राजस्थान से अर्जुन मेघवाल को शामिल किए जाने की संभावना है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करीबी अोम माथुर को हाल में ही राजस्थान से राज्यसभा में भेजा गया है. उन्हें भी कैबिनेट में शामिल करने की चर्चा जोरों पर है.

हिमाचल प्रदेश से बीजेपी के चार और उत्तराखंड से बीजेपी के पांच सांसद है. दोनों राज्यों में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाला है. हिमाचल से सिर्फ राज्यसभा सांसद जेपी नड्डा केंद्र में मंत्री हैं जबकि उत्तराखंड से कोई नहीं है. इन राज्यों को कैबिनेट में प्रतिनिधित्व मिलना तय है.

इससे पहले मोदी सरकार बनने के बाद सिर्फ एक बार नवंबर, 2014 में कैबिनेट में बदलाव हुआ. उस समय शिवसेना से आए सुरेश प्रभु और गोवा के सीएम रहे मनोहर पर्रिकर को कैबिनेट में शामिल किया गया. प्रभु को रेल मंत्री जबकि पर्रिकर को रक्षा मंत्री बनाया गया था.

First published: 29 June 2016, 1:09 IST
 
पाणिनि आनंद @paninianand

सीनियर असिस्टेंट एडिटर, कैच न्यूज़. बीबीसी हिन्दी, आउटलुक, राज्य सभा टीवी, सहारा समय इत्यादि संस्थानों में एक दशक से अधिक समय तक काम कर चुके हैं.

पिछली कहानी
अगली कहानी