Home » इंडिया » PMO clarification on PM modi comments in all party meeting, no one entered in Indian territory
 

PM मोदी के बयान पर उठे सवाल, PMO का जवाब- चीन ने की थी कब्जे की कोशिश, लेकिन..

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 June 2020, 16:09 IST

India China FaceOff: भारत और चीनी सेना के बीच हिंसक झड़प को लेकर प्रधानमंत्री मोदी ने एक दिन पहले ऑल पार्टी मीटिंग बुलाई थी. इस मीटिंग में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि लद्दाख में कोई भी भारतीय सीमा में नहीं घुसा है और किसी भी पोस्ट पर कब्जा नहीं किया गया है. पीएम मोदी के इस बयान पर कांग्रेस सहित कई नेताओं सवाल उठाए थे.

प्रधानमंत्री कार्यालय की तरफ से अब प्रधानमंत्री मोदी के उक्त बयान के सपोर्ट में जवाब आया है. PMO की तरफ से जारी स्पष्टीकरण में कहा गया है कि पीएम मोदी की LAC पर भारतीय सीमा की ओर चीनी सेना की कोई मौजूदगी न होने वाली टिप्पणी सशस्त्र बलों की वीरता के बाद के हालात से जुड़ी हैं.

PMO ने कहा कि भारतीय सैनिकों ने 15 जून को गलवान में अतिक्रमण की चीन की कोशिशों को नाकाम किया था. पीएमओ ने बयान में साफ कहा कि चीन ने प्रयास तो किया था लेकिन सैनिकों ने बलिदान देकर ढांचागत निर्माण और अतिक्रमण की कोशिशों को नाकाम कर दिया था. सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी की तरफ से स्पष्ट कर दिया गया था कि सरकार एलएसी में एकतरफा बदलाव नहीं होने देगी.

50,000 करोड़ की गरीब कल्याण रोजगार योजना लॉन्च, यूपी, बिहार सहित इन राज्यों को मिलेगा काम

पीएमओ की तरफ से आए बयान में कहा गया कि है कि प्रधानमंत्री मोदी का रुख एकदम स्पष्ट है कि  किसी की भी एलएसी पार करने की कोशिश का मजबूती से जवाब दिया जाएगा. बता दें कि सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी ने कहा था कि लद्दाख में भारत की सीमा में कोई नहीं घुसा है. हमारी कोई चौकी किसी दूसरे के कब्जे में नहीं है.

पीएम मोदी ने बैठक में कहा था कि सुरक्षाबल देश की रक्षा के लिए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रहे हैं. उन्होंने कहा था कि सेना को जरूरी कदम उठाने के लिए छूट दी गई है, भारत ने कूटनीतिक तरीकों से चीन को अपना रुख साफ बता दिया है. पीएम ने कहा था कि भारत के पास इतनी क्षमता है कि हमारी एक इंच जमीन की तरफ कोई भी आंख उठाकर भी नहीं देख सकता.

क्वारंटीन नियम को लेकर भिड़े दिल्ली के CM और LG, केजरीवाल के विरोध के चलते रुकी बैठक

कोरोना संक्रमण के चलते बड़ी मुसीबत, 48 घंटे प्रभावित रहेगी UP-112 सेवा, यहां करें संपर्क

First published: 20 June 2020, 16:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी