Home » इंडिया » PMO gets complaint: Essar allegedly tapped Ambani brothers, Suresh Prabhu, Vajpayee PMO staff
 

एस्सार पर अंबानी, सुरेश प्रभु और वाजपेयी पीएमओ स्टाफ का फोन टेप करने का आरोप

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 June 2016, 15:59 IST

स्टील, ऊर्जा समेत कई बड़े प्रोजेक्ट्स में निवेश करने वाले एस्सार ग्रुप पर 2001 से 2006 के बीच कई बड़े नेताओं समेत जानी-मानी हस्तियों के फोन टेप करने का आरोप लगा है. अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है.

जिन लोगों के फोन टेप होने की शिकायत प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) से की गई है, उसमें कई कैबिनेट मंत्रियों के अलावा उद्योगपति मुकेश अंबानी, अनिल अंबानी और कई बड़े ब्यूरोक्रेट के नाम भी शामिल हैं.

2001-2006 के बीच फोन टेप

रिकॉर्ड हुई बातचीत में सरकार और उद्योग घरानों के बीच की साठगांठ भी उजागर होने का दावा किया जा रहा है. गौर करने वाली बात यह है कि शिकायत ऐसे वक्त पर आई है, जब सुप्रीम कोर्ट में एस्सार ग्रुप के खिलाफ एक जनहित याचिका द्वारा उठाया गया मामला चल रहा है.

यह मामला एस्सार ग्रुप और कुछ नेताओं के बीच साठगांठ को लेकर ही है. पीएमओ को इस रिकॉर्डिंग के बारे में शिकायत करने वाले शख्स का नाम सुरेन उप्पल है.

वकील सुरेन उप्पल की पीएम से शिकायत

वह दिल्ली के रहने वाले हैं और सुप्रीम कोर्ट में वकील हैं. 1 जून 2016 को की गई शिकायत के अनुसार उन्हें यह जानकारी एस्सार ग्रुप के उसी कर्मचारी से मिली है, जिसने यह फोन कॉल टेप किए थे.

शिकायत के अनुसार जिन लोगों का फोन टेप किया गया, उसमें मौजूदा रेल मंत्री सुरेश प्रभु, पूर्व मंत्री प्रफुल्ल पटेल, राम नाईक, रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी, उनकी पत्नी टीना अंबानी, प्रमोद महाजन और अमर सिंह भी शामिल हैं.  

कॉरपोरेट पर वीवीआईपी के फोन टेप का आरोप

सुरेन उप्पल ने एक जून 2016 को पीएम नरेंद्र मोदी को इस मामले में शिकायत की है. अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक 29 पेज की इस शिकायत में एस्सार ग्रुप पर कई वीवीआईपी के फोन टेप करने का आरोप है. 

इस लिस्ट में मौजूदा गृह सचिव राजीव महर्षि, आईडीबीआई के चेयरमैन पीपी वोहरा, आईसीआईसीआई बैंक के पूर्व एमडी और सीईओ केवी कामथ और आईसीआईसीआई बैंक के ही पूर्व ज्वाइंट मैनेजिंग डायरेक्टर का नाम भी शामिल है.

शिकायतकर्ता सुरेन उप्पल द्वारा दिखाए गए कागजात, इनमें लिखे नंबर्स पर लगातार नजर रखने को कहा गया था (इंडियन एक्सप्रेस)

जसवंत सिंह, ब्रजेश मिश्रा का भी नाम

इसके अलावा कई और अहम हस्तियों की बातचीत रिकॉर्ड करने की शिकायत मिली है. इनमें एनडीए की अटल बिहारी वाजपेयी सरकार के कार्यकाल में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रहे ब्रजेश मिश्रा का नाम भी शामिल है.

इसके अलावा पूर्व विदेश मंत्री जसवंत सिंह, पूर्व विदेश सचिव एनके सिंह, केंद्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल, बीजेपी सांसद किरीट सोमैया, बीजेपी नेता सुधांशु मित्तल, सहारा इंडिया के प्रमुख सुब्रतो रॉय के अलावा फिल्म अभिनेता अमिताभ बच्चन का नाम भी है.

पूर्व एस्सार कर्मचारी का खुलासा!

दो महीने पहले शिकायतकर्ता सुरेन उप्पल ने एस्सार ग्रुप के उच्च अधिकारियों और दूसरे कॉरपोरेट को चेतावनी नोटिस भेजा था. यह नोटिस उप्पल के मुवक्किल और एस्सार के पूर्व कर्मचारी अल बासित खान की तरफ से भेजा गया था.

उप्पल का दावा है कि अल बासित खान के निर्देशन में ही फोन टेपिंग के पूरे ऑपरेशन को अंजाम दिया गया था. सुरेन उप्पल का कहना है, "जब फोन कॉल को रिकॉर्ड किया गया, उस दौरान खान एस्सार के सेक्योरिटी हेड थे. उन्होंने कंपनी प्रबंधन से निर्देश मिलने के बाद ऐसा किया था." 

First published: 17 June 2016, 15:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी