Home » इंडिया » PNB to e-auction 4,000 properties to recover loans
 

PNB करेगा 4000 संपत्तियों की नीलामी, होगी इतने करोड़ की रिकवरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 February 2019, 15:33 IST

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने बुधवार को कहा कि उसने अपने कर्ज वसूली के प्रयास के तहत पूरे भारत में 4,000 से अधिक संपत्तियों को ई-नीलामी का फैसला किया है. बैंक के अनुसार, सिक्योरिटाइजेशन एंड रिकंस्ट्रक्शन ऑफ फाइनेंशियल एसेट्स एंड एनफोर्समेंट ऑफ सिक्योरिटीज इंटरेस्ट एक्ट (SARFAESI) के तहत कार्रवाई से चालू वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान 26,000 करोड़रुपये की रिकवरी हासिल करने में मदद मिलेगी.

बैंक ने 31 दिसंबर 2018 तक रु 16,600 करोड़ रिकवरी का लक्ष्य रखा है. बैंक ने एक बयान में कहा, "यह उम्मीद की जाती है कि इन 4,000 संपत्तियों की निर्धारित ई-नीलामी से बैंक की कुल वसूली में काफी वृद्धि होगी." हाल ही में राज्य के स्वामित्व वाले ऋणदाता ने रुपये के शुद्ध लाभ की सूचना दी. दिसंबर 2018 को समाप्त होने वाली तीसरी तिमाही के लिए 247 करोड़ रु के लाभ की बात कही.

 

पंजाब नेशनल बैंक को चौथी तिमाही में बड़ा झटका लगा है. यह झटका भारतीय बैंकिंग सेक्टर का अब तक का सबसे बड़ा तिमाही नुकसान है. पीएनबी को 31 मार्च को खत्म हुई इस तिमाही में 13,417 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है. यह अब तक का किसी भी बैंक को किसी तिमाही में हुआ सबसे बड़ा घाटा है. इससे पहले पीएनबी के घाटे का पुराना रिकॉर्ड जनवरी-मार्च 2016 तिमाही का था. तब उसे एक तिमाही में 5,000 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था.

पीएनबी के बैड लोन यानी नॉन-परफॉर्मिंग ऐसेट्स (एनपीए) मार्च 2018 तिमाही के अंत में बढ़कर 86,620 करोड़ रुपये हो गई है. वहीं इससे सालभर पहले यह आंकड़ा 55,370 करोड़ रुपये का था. इसी दौरान नेट एनपीए 32,702 करोड़ रुपये से बढ़कर 48,684 करोड़ रुपये हो गया.

First published: 14 February 2019, 15:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी