Home » इंडिया » Police firing over Jai Shri Ram Slogan in Bankura West Bengal BJP claims two party workers injured
 

जयश्री राम के नारे पर फिर भड़की बंगाल में हिंसा, पुलिस फायरिंग में तीन घायल

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 June 2019, 12:11 IST

पश्चिम बंगाल में दिन ब दिन हालात बेकाबू होते जा रहे हैं. यहां बीजेपी और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच शुरु हुई खूनी जंग अभी भी खत्म नहीं हुई हैं. शनिवार रात बांकुरा जिले में पुलिस फायरिंग में एक स्कूली छात्र और दो बीजेपी कार्यकर्ता घायल हो गए. बीजेपी ने आरोप लगाया है कि पत्रासयार इलाके में जय श्री राम का नारा लगाने के बाद पुलिस ने फायरिंग कर दी.

जिसमें बीजेपी के दो कार्यकर्ता घायल हो गए. जबकि 14 साल का एक लड़का भी घायल हुआ है. जिनकी पहचान तपस बौरी, तुला प्रसाद खान और सौमन बौरी के रूप में हुई है. सभी को बांकुरा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है. बता दें कि तपस बौरी और तुला प्रसाद खान बीजेपी कार्यकर्ता हैं. जबकि सौमन आठवीं का छात्र है.

बताया जा रहा है कि घटना उस वक्त हुई जब टीएमसी सांसद सुवेंदू अधिकारी बांकुरा में एक सार्वजनिक सभा में आए थे. इसी दौरान यहां बीजेपी कार्यकर्ताओं ने जय श्री राम के नारे लगाने शुरू कर दिए. इसके बाद टीएमसी और बीजेपी कार्यकर्ता आपमें भिड़ गए. टीएमसी कार्यकर्ताओं ने बीजेपी के स्थानीय अध्यक्ष तमल भुइन की दुकान को तहस-नहस कर दिया.

उसके बाद बचाव में आए बीजेपी कार्यकर्ता भी टीएमसी कार्यकर्ताओं से भिड़ गए. इस पर बीजेपी सांसद सुभाष सरकार ने कहा कि पुलिस ने इसके बाद फायरिंग कर दी, जिसमें तीन लोग घायल हो गए. सरकार के मुताबिक, ''पुलिस ने कहा कि भीड़ तो तितर-बितर करने के लिए उन्होंने फायरिंग की''.

द टेलीग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक, सौमन बौरी बांकुरा के पत्रासयार इलाके की मार्केट से किताबें खरीदने गया था. इसके बाद वह दोनों पार्टियों के झगड़े के बीच फंस गया. तभी अचानक उसके पेट में गोली लग गई. हालांकि बांकुरा के पुलिस चीफ कोटेश्वर राव का कहना है कि हमने फायरिंग का सहारा नहीं लिया बल्कि स्थिति को काबू करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया.

बाइक चलाते वक्त पहना 'काम चलाऊ' हेलमेट तो ट्रैफिक पुलिस की गिरेगी आप पर गाज, जानिए पूरी वजह

First published: 23 June 2019, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी