Home » इंडिया » Pragya Thakur apologized in Lok Sabha for calling Godse a patriot, said- I too was called a terrorist
 

गोडसे को देशभक्त कहने पर लोकसभा में प्रज्ञा ठाकुर ने मांगी माफ़ी, कहा- मुझे भी आतंकी कहा गया

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 November 2019, 13:38 IST

भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने शुक्रवार को नाथूराम गोडसे पर अपनी टिप्पणी के लिए लोकसभा में माफी मांगी. भोपाल की सांसद ठाकुर ने यह भी कहा कि उन्हें अदालत द्वारा बरी किए जाने के बावजूद आतंकवादी करार दिया गया. गोडसे का नाम लिए बिना उन्होंने कहा, "अगर मैंने अपनी टिप्पणियों से किसी को आहत किया है, तो मुझे खेद है और मुझे माफी मांगनी चाहिए." उन्होंने कहा मेरे बयानों को तोड़ मरोड़कर पेश किया गया.

भाजपा ने गुरुवार को संसदीय दल की किसी भी बैठक में भाग लेने से रोक दिया और महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे की प्रशंसा के लिए रक्षा समिति की सलाहकार समिति से उसे हटा दिया. प्रज्ञा ठाकुर जो मालेगांव विस्फोट मामले में एक अभियुक्त हैं, के खिलाफ बीजेपी की कार्रवाई विपक्ष के हंगामे के बीच की गई.


 

लोकसभा में हंगामे के बाद स्पीकर ओम बिरला ने कहा "न केवल यह देश बल्कि दुनिया महात्मा गांधी के सिद्धांतों का पालन करती है. हमें इस मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए. उन्होंने कहा यह सदन महात्मा गांधी की हत्या के मामले को महिमामंडित करने की अनुमति नहीं देता है, चाहे वह इस सदन में हो या बाहर. इस बीच भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर को 'आतंकवादी' कहने के लिए कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के खिलाफ विशेषाधिकार प्रस्ताव की मांग की.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर तंज कसते हुए प्रज्ञा ठाकुर ने कहा "सदन के एक सदस्य ने मुझे 'आतंकवादी' कहा है. यह मेरी गरिमा पर हमला है. मेरे खिलाफ कोई भी आरोप अदालत में साबित नहीं हुआ है." गुरुवार को राहुल ने ट्वीट किया "आतंकवादी प्रज्ञा आतंकवादी गोडसे को देशभक्त कहती है. भारत के संसद के इतिहास में एक दुखद दिन है."

गोडसे को देशभक्त बताने पर राहुल गांधी ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को कहा 'आतंकी'

First published: 29 November 2019, 13:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी