Home » इंडिया » Prasoon Joshi censor board chief backs out of The Jaipur Literature Festival in Jaipur after karni sena threats on Padmaavat
 

करणी सेना की धमकी से डरे सेंसर बोर्ड के चीफ प्रसून जोशी!

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 January 2018, 15:32 IST

फिल्म निर्माता और निर्देशक संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत को लेकर करणी सेना के विरोध के बीच सेेंसर बोर्ड के चीफ प्रसून जोशी ने एक बयान जारी किया है. प्रसून जोशी ने ये बयान जयपुर लिटरेटर समारोह में ना शामिल होने को लेकर दिया है. 

करणी सेना ने प्रसून जोशी को जयपुर में आयोजित होने वाले समारोह में भाग लेने पर बुरे नतीजे भुगतने की धमकी दी थी. प्रसुन जोशी के समारोह में ना भाग लेने के ऐलान के बाद इस बात की चर्चाओं ने जोर पकड़ लिया है कि क्या प्रसून जोशी करणी सेना से डर गए हैं. प्रसून को  जयपुर में 'मैं और वो : कॉन्वर्सेशन्स विद माईसेल्फ' नाम के एक सत्र में हिस्सा लेना था. लेकिन अब वो इस सत्र में हिस्सा नहीं लेंगे. 

प्रसून जोशी ने शनिवार को एक बयान जारी कर कहा, "मैं इस बार जेएलएफ में भाग नहीं ले पा रहा हूं. साहित्य और कविता के प्रेमियों के साथ जेएलएफ में चर्चा और विचार-विमर्श इस वर्ष न कर पाने का दु:ख मुझे रहेगा, पर मैं नहीं चाहता कि मेरे कारण साहित्य प्रेमियों, आयोजकों और वहां आए अन्य लेखकों को कोई भी असुविधा हो और आयोजन अपनी मूल भावना से भटक जाए."

गौरतलब है कि प्रसून जोशी ने पद्मावत फिल्म को नाम बदलने और कुछ सीनों में कट लगाने के साथ रिलीज करने को हरी झंडी दी है. करणी सेना इसी बात से उनसे नाराज है.

प्रसुन जोशी ने जयपुर में चल रहे इस कार्यक्रम में हिस्सा ना लेने पर आगे कहा, " जहां तक बात फिल्म से जुड़े विवादों की, तो यहां मैं एक बार फिर यह कहना चाहता हूं कि फिल्म 'पद्मावत' को नियमों के अंतर्गत सुझावों को जहां तक संभव हो सम्मिलित करते हुए, सकारात्मक सोच के साथ, भावनाओं का सम्मान करते हुए ही प्रमाणित किया गया है, ये पूरी निष्ठा से एक संतुलित और संवेदनशील निर्णय का प्रयास है."

 

प्रसून ने इस विवाद पर आगे बोलते हुए कहा, "अब थोड़ा विश्वास भी रखना होगा. विश्वास एक-दूसरे पर भी और हमारी स्वयं की बनाई प्रक्रियाओं और संस्थाओं पर भी. विवादों की जगह विचार-विमर्श को लेनी होगी, ताकि भविष्य में हमें इस सीमा तक जाने की आवश्यकता न पड़े."

दरअसल जयपुर में इस समय लिटरेटर फेस्टिवल चल रहा है. ये समारोह 25-29 जनवरी तक चलेगा. प्रसुन जोशी पर राष्ट्रीय करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेडी ने कहा,  " चाहे राजस्थान सरकार प्रसून जोशी और जावेद अख्तर को कितनी भी सुरक्षा प्रदान करे. हम इन्हें जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में नहीं आने देंगे. प्रसून जोशी ने हमारी मां का अपमान किया है और अपनी मां के अपमान करने वालों को जयपुर में नहीं घुसने देंगे."

ये भी पढें- करणी सेना से नहीं डरी 'पद्मावत', दूसरे दिन भी बॉक्स ऑफिस पर मचाई धूम

 

First published: 27 January 2018, 15:28 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी