Home » इंडिया » prediction of election results by astrologers and tarot readers is ban india news
 

चुनाव आयोग हुआ सख्त, एग्जिट पोल के बाद अब चुनावी भविष्‍यवाणी पर रोक

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 March 2017, 9:08 IST
Election Commission

चुनाव के सभी चरणों के पूरे होने से पहले एग्जिट पोल का टीवी या अखबार में प्रसारण या प्रकाशन नहीं होने का निर्देश तो चुनाव आयोग की तरफ से पहले ही है. अब नए निर्देश भविष्‍यवाणी करने वालों के लिए जारी किया गया है. इसके तहत वे सभी चरणों के मतदान होने से पूर्व इस तरह की भविष्‍यवाणी आम जनता के बीच प्रकाशित या प्रसारित नहीं करेंंगे जिससे मतदान प्रभावित हो. 

गौरतलब है कि हाल ही में पांच राज्यों में आयोजित विधानसभा चुनाव के दौरान एक न्यूज पोर्टल की ओर से एग्जिट पोल जारी करने के बाद चुनाव आयोग ने यह कदम उठाया है. आयोग ने इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया से एग्जिट पोल जारी करने या फिर चुनाव परिणाम की भविष्यवाणी का प्रसारण करने से दूर रहने को कहा है, ताकि स्वतंत्र, निष्पक्ष और पारदर्शी चुनाव सुनिश्चित कराए जा सकें.

न्यूज ब्रॉडकॉस्टर्स एसोसिएशन के महासचिव और भारतीय प्रेस परिषद के सचिव को भेजी चिट्ठी में निर्वाचन आयोग ने मीडिया (प्रिंट-इलेक्ट्रॉनिक) से भविष्य में संभावित चुनाव परिणाम या एक्जिट पोल का प्रसारण न करने के लिए कहा है.

मीडिया संस्थानों को भेजी गई एडवाइजरी के मुताबिक जनप्रतिनिधित्व अधिनियम की धारा 126-A के तहत किसी को इलैक्ट्रॉनिक, प्रिंट या अन्य संसाधनों के जरिए प्रतिबंध के दौरान एग्जिट पोल जारी करने और परिणाम को लेकर भविष्यवाणी करने का अधिकार नहीं है. दरअसल, पिछले कुछ चुनावों में चैनलों की ओर से ज्‍योतिषियों और टैरो कार्ड रीडर्स को बुलाकर उनसे चुनाव के विजेता के बारे में भविष्‍यवाणी कराई जा चुकी है. 

First published: 31 March 2017, 9:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी