Home » इंडिया » Preeti Rathi 2013 acid attack case: Mumbai Sessions court convicts Ankur Panwar
 

प्रीति राठी तेजाब कांड: अंकुर पंवार दोषी करार, पिता ने मांगी मौत की सजा

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:47 IST
(कैच न्यूज)

मुंबई सेशंस कोर्ट ने चर्चित प्रीति राठी तेजाब कांड में आरोपी अंकुर पंवार को दोषी करार दिया है. बुधवार को कोर्ट इस मामले में सजा का एलान करेगा.

कोर्ट ने आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 (मर्डर) और 326 (ए), 326(बी) (तेजाब से हमला करने)  के तहत दोषी ठहराया है. इस मामले में प्रीति के पिता अमर सिंह आरोपी के खिलाफ मौत की सजा की मांग कर रहे हैं.

2 मई 2013 की वारदात

23 साल की प्रीति कोलाबा नौसेना अस्पताल 'आईएनएस अश्विनी' में स्टाफ नर्स के रूप में नौकरी शुरू करने 2 मई 2013 को मुंबई पहुंची थी. आरोपों के मुताबिक मुंबई के बांद्रा स्टेशन पर अंकुर ने प्रीति पर तेजाब फेंक दिया था.

तेज़ाब से प्रीति का गला और फेफड़े बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुए थे. प्रीति की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी. इस तेजाब कांड ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया.

जलन की वजह से एसिड अटैक

वारदात के करीब एक साल बाद अंकुर को गिरफ्तार किया गया था. अंकुर ने पुलिस की पूछताछ में बताया था कि जलन की वजह से उसने प्रीति पर तेजाब फेंका था. 

विशेष लोक अभियोजक उज्जवल निकम ने अदालत में दोषी अंकुर पवार के लिए मौत की सजा की मांग की है. प्रीति के पिता अमर राठी कैंसर की बीमारी से जूझ रहे हैं.

कोर्ट के फैसले पर खुशी जताते हुए अमर ने कहा कि दोषी को फांसी से कम कुछ भी सजा नहीं मिलनी चाहिए. वहीं अंकुर पवार की मां कैलाश पवार ने फिर एक बार पूरे मामले की सीबीआई से जांच करवाने की मांग की है.

First published: 6 September 2016, 4:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी