Home » इंडिया » Prime Minister Narendra Modi 36th edition, PM Narendra Modi urges to promote Khadi
 

पीएम मोदी के मन की बातः कश्मीरी युवक बिलाल से सीख लें देशवासी

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 September 2017, 14:00 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि उनके मासिक रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' ने समाज के हर वर्ग को एकजुट करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और इसके जरिये देशभर से मिलने वाले सुझावों से शासन में सुधार लाने में मदद मिलती है.

मोदी ने कार्यक्रम के 36वें संस्करण में कहा, "मन की बात के लिए मुझे बहुत ज्यादा प्रतिक्रियाएं मिलती हैं. हमने इस कार्यक्रम के तीन साल पूरे कर लिए हैं. स्वाभाविक रूप से मैं सभी का उल्लेख नहीं कर सकता, लेकिन इससे मिलने वाली प्रतिक्रियाओं से हमें सरकार चलाने में मदद मिलती है."

उन्होंने कहा, "इसने समाज के हर वर्ग को एकजुट करने में सहयोग दिया है." उन्होंने कहा कि उन्हें ईमेल, नरेंद्र मोदी ऐप, फोन और अन्य माध्यमों से जानकारियाें का खजाना मिलता है, जिससे उन्हें पता चलता है कि देश में क्या हो रहा है. प्रधानमंत्री ने कहा, "मैं अपने महत्वपूर्ण सुझाव साझा करने के लिए नागरिकों का आभारी हूं."

खादी आंदोलन
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि खादी केवल एक कपड़ा नहीं बल्कि आंदोलन है जिसे एक अभियान के रूप में आगे ले जाना चाहिए. मोदी ने कहा कि उन्होंने देखा है कि खादी के प्रति लोगों की रुचि बढ़ी है. प्रधानमंत्री ने कहा कि खादी की बिक्री में भी बढ़ोतरी हुई है जिसके कारण गरीब लोगों के लिए रोजगार के अवसर भी बढ़े हैं. उन्होंने कहा, "हमें इस दीवाली खादी उद्योग में लगे लोगों के घरों को रोशन करने के लिए काम करना चाहिए."

कश्मीरी युवक बिलाल से सीख लें देशवासी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'मन की बात' कार्यक्रम में कश्मीरी युवक बिलाल डार का जिक्र किया है. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, "नगर निगम श्रीनगर ने 18 साल के नौजवान बिलाल डार को स्वच्छता के लिए अपना ब्रांड एंबेसडर बनाया है."

बिलाल एशिया की सबसे बड़ी वुलर झील, श्रीनगर के पास जहां पर भी प्लास्टिक हो, पॉलिथीन हो, यूज्ड बॉटल हो, कूड़ा-कचरा हो साफ करता रहता है. उसमें से कुछ कमाई भी कर लेता है क्योंकि उसके पिता जी की बहुत छोटी आयु में कैंसर से मौत हो गई थी. इसके बाद भी उसने अपना जीवन आजीविका के साथ-साथ स्वच्छता के साथ जोड़ दिया. एक अनुमान है कि बिलाल ने सालाना 12 हजार किलो से ज्यादा कूड़ा कचरा साफ किया है. बिलाल डार श्रीनगर के बांदीपुरा का रहने वाला है. वह रह रोज वुलर झील की सफाई करते हैं.

बिलाल करी 12-13 साल का थे, तभी एक दिन फीस नहीं जमा करने के चलते उसे स्कूल से निकाल दिया गया. उस वक्त उसके पास पैसे लाने का कोई उपाय नहीं था. तभी उसके दिमाग में आइडिया आया कि वह वुलर झील को साफ करेगा ओर उन कूड़ों को बेचकर अपने स्कूल की फीस भरेगा. 

First published: 24 September 2017, 14:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी