Home » इंडिया » Prime Minister Narendra Modi returns to India after concluding 3 nation visit
 

दुनिया को भारत की ताकत दिखाकर स्वदेश लौटे पीएम मोदी, कश्मीर मुद्दे पर ट्रंप को दिया दो टूक जवाब

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 August 2019, 9:20 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन देशों की अपनी यात्रा के बाद भारत लौट आए. जहां उन्होंने दुनिया को भारत की ताकत दिखाई. इस दौरान पीएम मोदी संयुक्त अरब अमीरात, बहरीन और फ्रांस की यात्रा की. फ्रांस में पीएम मोदी ने जG-7 शिखर सम्मेलन में भाग लिया. इस दौरान उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप से भी मुलाकात की. जहां दोनों नेताओं ने कश्मीर मुद्दे पर बात की. इस दौरान पीएम मोदी ने ट्रंप को साफ शब्दों में कहा कि कश्मीर भारत और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मुद्दा है और दूसरा देश इस मामले में हस्तक्षेप करने की कोशिश ना करे.

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात से पहले कहा था कि वो फ्रांस के बिआरित्ज में कश्मीर मुद्दे पर बात करेंगे. बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप हाल ही में कश्मीर पर भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता की पेशकश कर चुके हैं. लेकिन पीएम मोदी से मुलाकात और उनके जवाब के बाद कश्मीर को द्विपक्षीय मुद्दा मान रह हैं.

ट्रंप ने कश्मीर मुद्दे के लिए मध्यस्थता की बात तब की थी जब वाशिंगटन में व्हाइट हाइस में उनके साथ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मुलाकात की थी. ट्रंप के उस बयान के बाद खूब शोर-शराबा हुआ और आखिर में पीएम मोदी के ट्रंप को दिए जवाब के बाद ये बात साफ हो गई कि अमेरिका भी अब कश्मीर को द्विपक्षीय मुद्दा मानने लगा है.

फ्रांस के बिआरित्ज में पीएम मोदी और अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप की मुलाकात के बाद विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया कि दोनों नेताओं के बीच करीब 40 बातचीत हुई जो बेहतरीन और गर्मजोशी से भरी रही. इसमें दोनों देशों के बीच व्यापाक रणनीतिक साझेदारी के कई मुद्दों पर चर्चा हुई. गोखले ने बताया कि कश्मीर या पाकिस्तान के विषय पर दोनों नेताओं ने जो भी कुछ कहा वो कैमरों के सामने था. उन्होंने कहा कि कैमरे से हटने के बाद हुई वार्ता में इस विषय पर कोई चर्चा नहीं हुई.

बता दें कि फ्रांस में पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति की मुलाकात के बाद पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान परेशान हैं. यही वजह है कि मोदी-ट्रंप मुलाकात के कुछ घंटे बाद ही इमरान खान ने देश के नाम संदेश में परमाणु हथियारों का इस्तेमा करने की बात तक कह डाली. अमेरिका का ध्यान अपनी ओर खींचने के लिए इमरान ने कहा कि यह नहीं भूलना चाहिए कि भारत और पाकिस्तान परमाणु ताकत हैं. इमरान खान के इस बयान से साफ पता चलता है कि इमारन खान कश्मीर के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं और परमाणु बम भी दागने में झिझक महसूस नहीं करेंगे.

ISI भारत में कर सकती है बड़ा धमाका, खुफिया विभाग के इनपुट के बाद सुरक्षा एजेंसियां सतर्क

First published: 27 August 2019, 9:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी